अब हिरोइन संग नाचने की उम्र नहीं रही मेरी, कैरक्टर रोल्स के लिए तैयार हूं | संजय दत्त

sanjay-dutt-says-now-i-do-not-have-the-age-of-dancing-with-heroins
sanjay-dutt-says-now-i-do-not-have-the-age-of-dancing-with-heroins

मुंबई |  बॉलीवुड के माचो हीरो संजय दत्त का कहना है कि अब उनकी उम्र किसी हीरोइन के साथ पेड़ों के आस-पास नाचने-गाने की नहीं रही और वह अब कैरक्टर रोल्स के लिए तैयार हैं।

संजय दत्त ने कहा कि वह अच्छी तरह जानते हैं कि अब उनकी उम्र पेड़ों के इर्द-गिर्द, हीरोइन के साथ नाचने-गाने की नहीं रही इसलिए वह कैरक्टर रोल करने के लिए तैयार हैं।संजय दत्त ने कहा, ‘यह सही बात है कि बढ़ती उम्र के साथ अब मैं पेड़ों और लड़कियों के साथ नाच नहीं सकता हूं, लेकिन मैं बेहतरीन किरदार जरूर निभा सकता हूं, जैसे हॉलीवुड में मेल गिब्सन या डेंजेल वाशिंगटन निभाते हैं। मैं उस किस्म के कैरक्टर निभाउंगा। पहली फिल्म रॉकी से लेकर अब

तक बहुत बड़ी जर्नी रही है, इस दौरान सीखने को खूब मिला और तमाम बड़े-बड़े ऐक्टर्स के साथ खूब काम भी किया है। मैं मराठी फिल्मों में भी काम करना चाहूंगा, बस शर्त यही होगी कि कहानी और किरदार मुझे पसंद आना चाहिए।’

मराठी फिल्म प्रोड्यूस करने की बात पर संजय दत्त ने एक सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि मैं मराठी मानुष हूं। यहीं पैदा हुआ और मेरी मां भी मराठी थी, इसलिए प्रॉडक्शन की शुरुआत मराठी फिल्म बाबा से की है।