फिल्मी पर्दे पर चमकने वाली परवीन बॉबी का निजी जीवन तन्‍हाई में बीता

Bollywood actress Parveen Babi special death anniversary
Bollywood actress Parveen Babi special death anniversary

बॉलीवुड। 70 और 80 दशक के बॉलीवुड की सबसे बोल्ड अदाकारा परवीन बॉबी की चमक जितनी फिल्मी पर्दे पर रही उतनी निजी जीवन में नहीं रही। उनका निजी जीवन तन्हाइयों में बीता। परवीन बॉबी को बॉलीवुड की ऐसी अभिनेत्री के नाम पर याद किया जाता है, जो कभी भी परंपरागत ढर्रे पर न चलकर अपने बोल्ड और खास अंदाज के जरिए ग्लैमरस गर्ल बन गई। परवीन बॉबी की सुंदरता के बॉलीवुड ही नहीं लाखों प्रशंसक भी दीवाने थे।

परवीन बाबी की खूबसूरती का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि 1976 में टाइम मैगजीन ने अपने कवर पेज पर उन्हें जगह दी थी। आज परवीन बाबी भले ही हमारे बीच नहीं हैं लेकिन उनका अभिनय और जीने का अंदाज दर्शक आज भी याद करते हैं। अभिनेत्री परवीन बाबी की आज पुण्यतिथि है। आइए जानते हैं उनका फिल्मी सफर और निजी जीवन कैसा रहा।

4 अप्रैल 1949 को परवीन बॉबी का जन्म गुजरात के जूनागढ़ में हुआ था

परवीन बॉबी का 4 अप्रैल 1949 को गुजरात के जूनागढ़ में एक मध्यम वर्गीय मुस्लिम परिवार में जन्म हुआ था। इन्होंने अपने करियर की शुरुआत बतौर मॉडल की थी। मॉडलिंग के दिनों में परवीन बॉबी अहमदाबाद यूनिवर्सिटी में अपनी पढ़ाई  कर रही थीं। इसी दौरान उन पर निर्माता निर्देशक बीआर इशारा की नजर पड़ी। जब बीआर इशारा ने उन्हें देखा, उस वक्त उन्होंने मिनी स्कर्ट पहनी हुई थी। उस समय उनके हाथ में सिगरेट भी था, इशारा उनके इस लुक से इतने ज्यादा प्रभावित हो गए कि उन्होंने अपनी फिल्म में उनको तुरंत ही साइन कर लिया। इसके बाद परवीन बॉबी का फिल्मी करियर तेजी से दौड़ने लगा था।

वर्ष 1973 में परवीन बॉबी ने शुरू किया फिल्मी करियर

1973 में शुरू किया फिल्मी सफर  

इस तरह परवीन ने बतौर अभिनेत्री 1973 से अपना फिल्मी करियर शुरू कर दिया। उनकी पहली फिल्म ‘चरित्र’ में परवीन के अपोजिट क्रिकेटर सलीम दुर्रानी थे। वो अलग बात थी कि फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बुरी तरह से फ्लॉप हुई, लेकिन इसके बाद परवीन बॉबी ने कभी भी पीछे मुड़कर नहीं देखा। फिल्म जगत में एंट्री लेने के बाद परवीन के वेस्टर्न लुक ने सबको उनका दीवाना बना दिया। इसके बाद उनकी फिल्म आई धुएं इसके बाद उन्होंने डैनी डोंगजप्पा को अपना दिल दे दिया। वो और बात थी कि उनका अफेयर ज्यादा दिनों तक नहीं चला।

वर्ष 1974 में फिल्म ‘मजबूर’ जबर्दस्त हिट हुई थी

परवीन बॉबी के कॅरियर की पहली जबरदस्त हिट फिल्म थी ‘मजबूर’। 1974 में रिलीज हुई इस फिल्म में पहली बार परवीन बॉबी को अमिताभ बच्चन के साथ काम करने का मौका मिला। इसके बाद 1975 में रिलीज फिल्म ‘दीवार’ में भी परवीन बॉबी को एक बार फिर से अमिताभ बच्चन के साथ काम करने का मौका मिला। इस फिल्म में परवीन बॉबी ने अपने सबसे ज्यादा बोल्ड किरदार से दर्शकों को अपना दीवाना बना दिया। इसके बाद 1977 में मनमोहन देसाई के डायरेक्शन में बनी फिल्म ‘अमर अकबर एंथोनी’ में एक बार फिर परवीन ने अमिताभ के साथ काम किया।

उनकी यह फिल्म भी सुपरहिट रही। इस बीच उन्होंने ‘काला पत्थर’ और ‘सुहाग’ जैसी सुपरहिट फिल्मों में शशि कपूर के साथ किरदार निभाया। 1981 में परवीन बॉबी ने ‘कालिया’, ‘क्रांति’ और ‘आहिस्ता-आहिस्ता’ जैसी सुपरहिट फिल्मों में एक्टिंग की। इसके बाद फिल्म ‘नमक हलाल’ परवीन बॉबी की सुपरहिट फिल्म साबित हुई।

अमिताभ बच्चन और परवीन बॉबी की जोड़ी को दर्शकों ने खूब सराहा

अमिताभ बच्चन के साथ परवीन बॉबी ने करीब आठ फिल्मों में काम किया। दर्शकों ने उनकी जोड़ी को खूब पसंद किया। बताया जाता है कि बॉलीवुड में शुरुआती दिनों से ही परवीन बॉबी अपनी पर्सनल लाइफ को लेकर खासी सुर्खियों में रहीं। महेश भट्ट, कबीर बेदी, और डैनी के साथ उनका अफेयर चला। बदकिस्मती से तीनों ही शादीशुदा थे। डैनी से हुए ब्रेकअप ने परवीन बॉबी को काफी दर्द पहुंचाया।

इसके बाद धीरे-धीरे परवीन बॉर्बी गुमनामी की जिंदगी जीने लगी। 30 साल तक बॉलीवुड में राज करने वाली फिल्म परवीन के पास करोड़ों की दौलत और लाखों जाने वाले थे। लेकिन एक दिन अचानक जब परवीन बॉबी की मौत की खबर आई तो हर कोई सन्न रह गया।

20 जनवरी 2005 को खामोशी से दुनिया को अलविदा कह गईं

20 जनवरी सन 2005 को मुंबई के जुहू स्थित अपने फ्लैट में मृत मिलीं। कभी लोगों का अपनी अदाओं से मन मोह लेने वाली परवीन बेसुध और बेजान पड़ी थीं। खामोशी के साथ परवीन दुनिया को अलविदा कह गई थीं। उनकी दर्दनाक मौत के बारे में बताया जाता है कि जीवन भर सच्चे प्यार को तरसती रहीं परवीन बॉबी। उनकी मौत के बारे में दुनिया को 2 दिन बाद 22 जनवरी पता चला। परवीन के घर के बाहर दूध के पैकेट और अखबार पिछले दो दिनों से जैसे के तैसे पड़े हुए थे। बताते हैं कि परवीन डायबिटीज और पैर की बीमारी गैंगरीन से पीड़ित थीं।

इसकी वजह से उनकी किडनी और शरीर के कई अंगों ने तो पहले ही काम करना बंद कर दिया था और आखिर में बंद घर के अंदर उन्होंने कब दुनिया को अलविदा कहा, किसी को मालूम भी नहीं पड़ा। परवीन को बॉलीवुड की ऐसी अभिनेत्री के नाम पर याद किया जाता है, जो कभी भी परंपरागत ढर्रे पर न चलकर अपने बोल्ड और खास अंदाज के जरिए ग्लैमरस गर्ल बन गई।

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार