कोरोना पॉजिटिव पाए गए मुक्केबाज डिंको सिंह

नई दिल्ली/इम्फाल। एशियाई खेलों के पूर्व स्वर्ण पदक विजेता मुक्केबाज डिंको सिंह कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं और उन्हें इम्फाल के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

41 साल के डिंको लिवर कैंसर से जूझ रहे हैं। मणिपुर की महिला मुक्केबाज एल सरिता देवी ने भी पुष्टि की है कि डिंको को कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डिंको ने 1998 के बैंकॉक एशियन खेलों में बैंटमवेट वर्ग में स्वर्ण जीता था। उन्हें 2013 में पद्मश्री से भी सम्मानित किया गया था।

डिंको को उनके लिवर कैंसर के इलाज के लिए गत 25 अप्रैल को एयर एम्बुलेंस से इंफाल से दिल्ली लाया गया था। देश में लॉकडाउन के कारण उस समय हवाई सेवाएं बंद हैं और तब एयरलाइन स्पाइसजेट ने अपनी एयर एम्बुलेंस सेवा के जरिये डिंको को इंफाल से दिल्ली पहुंचाया था। उन्हें लाने का इंतजाम भारतीय मुक्केबाजी महासंघ ने कराया था। डिंको के साथ उनकी पत्नी एनगंगोम बबई देवी भी दिल्ली आयी थीं। दिल्ली लाये जाने के समय उनकी कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव थी।

मुक्केबाज को दिल्ली में एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डिंको को तेज निमोनिया और जौंडिस था जिसके कारण डाक्टरों ने उनकी कीमोथैरेपी करने से माना कर दिया था। डिंको दिल्ली में रहने के दौरान लगातार भारतीय मुक्केबाजी महासंघ के संपर्क में बने हुए थे लेकिन कुछ दिनों बाद उन्होंने महासंघ से संपर्क करना छोड़ दिया।

मई में डिंको मुक्केबाजी महासंघ को कोई जानकारी दिए बिना सड़क मार्ग से अपने गृह राज्य मणिपुर लौट आए। वह एंबुलेंस के जरिए 2400 किमी का सफर पूरा करके 20 मई को दिल्ली से मणिपुर लौटे थे जिसके बाद उन्हें क्वारंटीन में रखा गया था।

सरिता देवी ने भी बताया कि डिंको को पिछले दिनों लगातार तेज बुखार आ रहा था। दो दिन पहले डिंको का कोरोना टेस्ट कराया गया और रविवार को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। समझा जाता है कि दिल्ली में इलाज के दौरान उनकी देखभाल कर रही एक नर्स की रिपोर्ट पॉजिटव आई थी। उनके एंबुलेंस में संक्रमित होने की आशंका जताई जा रही है।

इस बीच केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने मणिपुर सरकार से अनुरोध किया है कि डिंको की स्थिति पर नजर रखी जाए और उनके इलाज के लिए हर तरह की चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जाए।