पुष्कर का ब्रह्मा मंदिर विश्व रिकॉर्ड में दर्ज होगा

अजमेर। राजस्थान में अजमेर के निकटवर्ती तीर्थराज पुष्कर स्थित विश्व के एकमात्र ब्रह्मा मंदिर को 16 मई को विश्व रिकॉर्ड में दर्ज कर लिया जायेगा।

पुष्कर के उपखंड अधिकारी सुखाराम पिंडेल ने बताया कि पुष्कर ब्रह्मा मंदिर को विश्व के सबसे प्राचीन एवं सबसे अधिक दर्शन किए जाने वाले मंदिर के रूप में विश्व रिकॉर्ड में दर्ज किया जाएगा। एक्सक्लुसिव वल्ड रिकॉर्ड संस्था के प्रतिनिधि पुष्कर स्थित उपखंड कार्यालय पर उपस्थित रहकर सुबह नौ बजे वर्ल्ड रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र सौपेंगे।

विश्व के इस प्राचीनतम मंदिर को विश्व पटल पर विश्व समुदाय के ध्यान में लाने के उद्देश्य से नाम दर्ज किया जाएगा, जो पुष्कर (अजमेर) ही नहीं राजस्थान सहित विश्व भर के हिन्दू समाज के लिए गौरव की बात है। उनके अनुसार ब्रह्मा मंदिर का जीर्णाेद्धार आदिगुरू शंकराचार्य द्वारा कराया गया था, जबकि मंदिर निर्माण 14वीं शताब्दी में हुआ था।

उल्लेखनीय है कि सृष्टि के रचयिता भगवान ब्रह्मा जी ने पुष्कर में तप कर पवित्र पुष्कर सरोवर का सृजन किया था। यही कारण है कि विश्व के हिन्दू धर्मावलंबी पुष्कर सरोवर स्नान के बाद ब्रह्मा जी के दर्शन करना नहीं भूलते। वर्तमान में मंदिर प्रबंधन की व्यवस्था जिला प्रशासन के जरिये उपखंड अधिकारी पुष्कर के अधीन है।