भांजे-भांजी और बहन की मौत का सदमा, भाई ने की सुसाइड

भिंड। मध्यप्रदेश के भिंड जिले में एक युवक ने अपनी बहन और भांजे-भांजी की मौत से दुखी होकर उसी तालाब में कूद कर सुसाइड कर ली, जिसमें उसकी बहन अपने बच्चों के साथ दो दिन पहले कूदी थी।

युवक ने सरोवर में छलांग लगाने से पहले घरवालों से फोन पर कहा था कि जब वह अपनी बहन और उसके बच्चों को नहीं बचा पाया, तो खुद जीकर क्या करेगा।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि स्थानीय सुभाष नगर निवासी रमेश वाल्मीक की बेटी रीना (25) ने दो दिन पहले अपने दोनों बच्चों रौनक (3) और कृष्णा (6) के साथ गौरी सरोवर में कूदकर आत्महत्या कर ली थी। तीनों की मौत से रमेश का पूरा परिवार दुखी थी।

इसी सदमे के चलते कल रीना के छोटे भाई सूरज (23) ने भी गौरी सरोवर में छलांग लगा दी। परिजन उसे सरोवर से निकालकर अस्पताल पहुंचे, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

सूरज को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने के दौरान उसके मुंह से पानी निकलने लगा, जिससे परिजन उसे जिंदा मानकर ट्रॉमा सेंटर ले गए। इसी दौरान कुछ लोगों ने डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए वहां तोड़फोड़ भी की। भारी पुलिसबल ने अस्पताल पहुंच कर उपद्रवियों पर काबू पाया।

बताया जा रहा है कि सूरज ने मरने से पहले घर वालों को फोन कर कहा कि जब वह अपनी बहन और भांजे भांजी को नहीं बचा पाया तो अब वह अकेले जीकर क्या करेगा। उसके फोन काटने पर परिजन सरोवर तक पहुंचे, लेकिन उसका शव ही बरामद हुआ।

सीएसपी वीरेन्द्र सिंह तोमर ने बताया कि सूरज अपनी बहन और भांजे-भांजी की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर पाया, इसलिए उसने भी आत्महत्या कर ली। शव का पोस्टमार्टम कराया गया है। अस्पताल में तोड़फोड़ करने वालों की पहचान कर उनके खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज किए जाएंगे।