अजमेर में बीएसएनएल कर्मचारियों का धरना, सरकार को कोसा

अजमेर।  बीएसएनएल यूनियनों एवं एसोशिएशनों के राष्ट्रीय आहवान पर मंगलवार को अपनी मांगों को लेकर कर्मचारियों व अधिकारियों ने आगरा गेट स्थित मुख्य दूरभाष के सामने एक दिवसीय धरने के दौरान प्रदर्शन और नारेबाजी की।

कर्मचारियों ने कहा कि साल 2017 से देय वेतन व पेंशन संशोधन शीघ्र लागू कियया जाए। पेंशन अंशदान की वसूली वास्तविक मूल वेतन आधारित हो,बीएसएनएल को 4जी स्पेक्ट्रम का निशुल्क व शीघ्र आवंटन किया जाए।

मोर्चा संयोजक ने बताया कि वेतन संशोधन एवं अन्य मांगों को लेकर कर्मचारियों का आंदोलन बीते एक साल से चल रहा है। इस दौरान धरना, प्रदर्शन व तीन दिवसीय भूख हडताल भी की गई थी।

गत 23 फरवरी को दिल्ली में विशाल रैली के बाद 24 फरवरी को संचार मंत्री के साथ लिखित समझौता हुआ था जिसके आठ माह गुजर जाने के बाद भी अमल नहीं किया जा रहा। मजबूरन कर्मचारियों को पुन: आंदोलन पर उतरना पड रहा है। इसी कडी में 14 नवंबर को देशभर में रैलियां निकाली जाएंगी। 30 नवंबर तक मांगे पूरी नहीं हुईं तो हडताल की जाएगी।

धरने में वीएस नरूका, महेन्द्र वर्मा, गजेन्द्र सांखला, गजेन्द्र सिंह, कमरूद्दीन, राजकुमार शर्मा चंपालाल, हनुमान सिंह, दीपक फुलवारी, नवीन उपाध्याय, बाबू सिंह, सुनील बंजारा, पुष्पादेवी आदि ने भाग लिया।