मायावती खत्म कर सकती हैं, 14 साल बाद अपना राजनीतिक संन्यास

Buoyed by Bypoll Wins in UP, BSP Chief Mayawati May Contest 2019 Lok Sabha Polls

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख विरोधियों के रुप में अपनी मजबूत दावेदारी पेश करने का संदेश देने के मकसद से बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायवती अंबेडकरनगर अथवा बिजनौर से वर्ष 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ सकती हैं।

अगले वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर भाजपा, कांग्रेस समेत ज्यादातर पार्टियों ने अभी से तैयारी शुरू कर दिया है। बसपा ने भी अपनी रणनीति बनाना शुरू करदी है। पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय राजनीति में मायावती का 14 वर्ष का ‘सियासी वनवास’ अब खत्म होगा। मायावती 2019 का लोकसभा चुनाव के मैदान में उतरने की संभावना है। उन्होंने लोकसभा का आखिरी चुनाव वर्ष 2004 में लड़कर जीता था।

बसपा लोकसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश में विपक्षी एकता के लिए प्रयास कर रही है और इस सिलसिले में कुछ बैठकें भी हो चुकी हैं, लेकिन अब खुद मायावती के चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी से प्रदेश की राजनीति को नया आयाम मिल सकता है। पार्टी मायावती के लिए काफी समय से उपयुक्त चुनावी क्षेत्र की तलाश में है। पार्टी सूत्रों के अनुसार संभवतः मायावती अंबेडकरनगर या बिजनौर से चुनाव लड़ सकती हैं।

गौरतलब है कि फिलहाल अंबेडकरनगर लोकसभा क्षेत्र की पांच विधानसभा सीटों पर से चार पर बसपा का कब्जा है। मायावती ने वर्ष 1998, 1999 और 2004 में इसी लोकसभा का प्रतिनिधित्व किया था। बसपा को पुनर्जीवित करने के लिए 2019 लोकसभा चुनाव काफी महत्पूर्ण है। पार्टी नेताओं का कहना है कि मायावती अंबेडकरनगर से चुनाव लड़कर पार्टी को बेहतर नेतृत्व प्रदान कर सकती हैं।