खाद्य सुरक्षा के तहत मासिक खाद्यान्न सीमा दो किलो प्रति व्यक्ति बढ़ी

नई दिल्ली। सरकार ने काेरोना वायरस से निपटने के लिए किए गए 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान लोगों को अनाजों की कमी नहीं होने देने के उद्देश्य से राशन दुकानों के माध्यम से वितरित किए जाने वाले सब्सिडी अनाजों की सीमा प्रति व्यक्ति दो किलोग्राम बढ़ाकर सात किलोग्राम प्रतिमाह करने का निर्णय लिया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को हुई मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति की बैठक के बाद सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने संवाददाताओं से चर्चा में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि देश के 80 करोड़ लोगों को खाद्य सुरक्षा योजना के तहत अब सात किलो अनाज मिलेगा। इसके तहत दो रुपए प्रति किलो गेहूं और तीन रुपए प्रति किलोग्राम चावल दिया जाता है।

उन्होंने कहा कि इसके साथ ही राज्यों को इस योजना के तहत अनाजों का अग्रिम उठाव करने की भी अपील की गई है। जन वितरण प्रणाली के माध्यम से ये अनाज उपलब्ध कराए जाते हैं और यह दुनिया का सबसे बड़ा खाद्य सुरक्षा तंत्र है। उन्होंने कहा कि इसके तहत 27 रुपए प्रति किलोग्राम वाला गेहूं दो रुपए प्रति किलोग्राम जबकि 32 रुपए प्रति किलोग्राम वाला चावल तीन रुपए प्रति किलो दिया जाता है। इस योजना के तहत अभी प्रति व्यक्ति पांच किलोग्राम अनाज दिया जाता है।