फ्लावर शो : कांटों को भी ऐसे सजाया, फूलों की तरह ही रिझाया

Attractive cactus displayed in mount abu flower show
Attractive cactus displayed in mount abu flower show

सबगुरु न्यूज-माउंट आबू। कई वर्षों से उजाड़ पड़ा राजहंस नर्सरी शुक्रवार को माउंट आबू में खूबसूरती का पर्याय बन गया था। पुरुषार्थ ने इस उजाड़ नर्सरी को ऐसा रूप दे दिया किआ फूल तो फूल कांटे भी इस कदर सजे हुए नजर आए की वो भी फूलों की तरह सबको रिझा रहे थे।

मौका था जिला प्रशासन और माउंट आबू नगर पालिका द्वारा उद्यान विभाग के राजहंस नर्सरी में माउंट आबू होटल एसोसिएशन और जिले की औद्योगिक और व्यावसायिक इकाइयों के सहयोग से आयोजित पश्चिमी राजस्थान के पहले फ्लावर शो का।

इसमें माउंट आबू के होटल व्यवसाइयों के अलावा जिले की औद्योगिक इकाइयों ने अपने यहां उगाए फूलों और कांटों को प्रदर्शन के लिए रखा। ये फ्लावर शो पर्यटकों के साथ स्थानीय लोगों के लिए भी आकर्षण और चर्चा का केंद्र रहा।

Flower frame displayed for photo shoot of visitors in flower show in mount abu
Flower frame displayed for photo shoot of visitors in flower show in mount abu

प्रोफेशनलिस्म भी झलका

ये पहला फ्लावर शो था। माउंट आबू के होटल व्यवसाइयों और प्रशासनिक अधिकारियों का भी पहला अनुभव इसके बावजूद इस प्रदर्शनी में प्रस्तुतीकरण लोगों की यादों में संजोने जैसा था। यूं अधिकांश पौधों को बिना उनके नाम और स्पीशीज के ही प्रदर्शित किया था, लेकिन जेके सीमेंट समेत कुछ बड़े होटल्स ने अपने द्वारा प्रदर्शित फूलों के नाम और प्रजाति लिखे थे।

वैसे अभी ये पुष्प प्रदर्शनी 28 फरवरी तक चलेगी। इस दौरान शेष पुष्पों पर भी उनके नाम और उनकी प्रजाति लिखे जाने के प्रयास किये जा सकते हैं। इससे प्रदर्शनी देखने आने वाले लोगों को आकर्षित करने वाले पुष्पों को वे इनके नाम की जानकारी होने पर बाजार या नर्सरी से खरीदकर घरों को भी खूबसूरत बना सकते हैं।

कलक्टर संदेश नायक ने बताया कि प्रदर्शनी के आयोजन और आमंत्रण की सूचना के लिए सिरोही बीट्स के बच्चों ने कृषि विभाग के अधिकारी प्रकाश गुप्ता के लिखित गीत को जिया नवश्री ने आवाज देकर गीत तैयार किया गया।

उन्होंने बताया कि ये पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप का एक अच्छा उदाहरण है। माउंट आबू वासियों की भागीदारी के साथ आयोजित इस प्रदर्शनी से एक नई साइट विकसित होगी। इससे पर्यटकों को माउंट आबू में घूमने का एक और खूबसूरत स्थान मिल जाएगा। प्रदर्शनी स्थल का नाम फूलों का गांव रखा गया है, उन्होंने बताया कि उनकी कोशिश है कि माउंट आबू ही फूलों के गांव में तब्दील हो जाये और इसके लिए किए जा रहे कार्यो से भी उन्होंने अवगत करवाया।

इस दौरान बृजेश चतुर्वेदी ने बॉनजाइ पेड़ बनने का तरीका बताया वहीं कृषि विभाग के पूर्व उप निदेशक जेपी रायजादा ने फूलों को उगाने और उनकी देखरेख की तकनीक बताई। कृषि विभाग के उपनिदेशक जगदीश मेघवंशी और माउंट आबू होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष कश्यप जानी ने इस प्रदर्शनी के लिए किए गए प्रयासों से अवगत करवाया।

प्रकाश गुप्ता ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश, माउंट अबुर डीसीएफ हेमंत कुमार, माउंट एसडीएम सिरेश ओला, माउंट आबू चेयरमैन सुरेश थिंगर, यूआईटी चैयरमेन सुरेश कोठारी,  आबूरोड चैयरमेन सुरेश सिंदल मंचासिन थे। इस दौरान जिया नवश्री के गाये गीत को सभी ने सराहा।

Flower pot made by bear can spread smile on the face of collector and other officers during flower show in mount abu
Flower pot made by bear can spread smile on the face of collector and other officers during flower show in mount abu

ये देख हर कोई मुस्कुरा उठा

यहाँ सिर्फ फूलों और केक्टस की अलग अलग प्रजातियां ही नही थी बल्कि वेस्ट का उपयोग करके बनाये गए गमले भी लोगों को आकर्षित कर रहे थे। बियर के खाली केन से बनाये गए गमलों ने तो सबको इतना आकर्षित किया कि खुद कलेक्टर और उनके साथ आये अधिकारियों और नेताओं के चेहरे पर मुस्कान बिखेर दी।

इसके अलावा पानी निकासी के पाइप्स को क्यारियों का रूप देकर बनाये गए गमले भी आकर्षण का केंद्र रहे। बृजेश चतुुुवेदी ने बाद में बॉनजाइ पेड़ बनाने को तकनीक का प्रदर्शन किया। जो इस फ्लावर शो का एक और आकर्षण रहा।

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो