भावुकता से नहीं, प्रोफेशनल अंदाज से खेले : विराट कोहली

मैनचेस्टर। चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को विश्वकप मुकाबले में डकवर्थ लुइस नियम के तहत 89 रन के बड़े अंतर से धूल चटाने के बाद भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि टीम ने इस मुकाबले को पूरे पेशेवराना अंदाज में जीता।

विराट ने कहा कि पाकिस्तान ने दो साल पहले चैंपियन्स ट्राफी के फाइनल में हमें पराजित किया था लेकिन इसके अलावा हमने उनके खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया है। अगर मैच में आप भावुकता से भरे होंगे तो वह आपको परेशान करेगा। हम कभी भी ऐसे मुकाबले को फैंन्स के नजरिए से नहीं देखते हैं। क्रिकेट खिलाड़ी होने के नाते हमारा ध्यान सिर्फ अपने प्रदर्शन पर केंद्रित होता है।

भारतीय कप्तान ने इस मुकाबले में शानदार 140 रन बनाने वाले सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ बेहतरीन बल्लेबाजी से यह साबित किया है कि वह वाकई वनडे के जबरदस्त खिलाड़ी हैं। रोहित के शतक की बदौलत भारत 50 ओवर में 336 रन का मजबूत स्कोर बनाने में कामयाब रहा।

विराट ने कहा कि विश्वकप के पहले तीन मैचों में रोहित ने अच्छी बल्लेबाजी की है। पहले मुकाबले में उन्होंने अकेले मैच जितवाया जबकि दूसरे मुकाबले में टीम के योगदान से हमें जीत मिली और पाकिस्तान के खिलाफ फिर रोहित का दिन था।

उन्होंने कहा कि आपको 330 रन से ज्यादा का लक्ष्य निर्धारित करने के लिए पूरे टीम के योगदान की जरुरत होती है। लोकेश राहुल ने रोहित के साथ अच्छी साझेदारी की। रोहित जब 75 रन बना लेते हैं तो फिर उन्हें रोकना मुश्किल हो जाता है। उन्होंने साबित किया कि वह कैसे एक शानदार वनडे खिलाड़ी हैं। दोनों की साझेदारी की बदौलत ही मैं अपना नियमित खेल सका और इस साझेदारी के कारण ही हार्दिक पांड्या भी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर सके।

टॉस को लेकर विराट ने कहा कि पिच कुछ खास अलग नहीं थी लेकिन हमारी पारी के अंतिम ओवरों में पिच में थोड़ा बदलाव आया था। मैं भी टॉस जीतकर गेंदबाजी लेना चाहता था क्योंकि मैच में बारिश की संभावना थी और अगर हम सही जगह गेंदबाजी करते तो यह गेंदबाजों के लिए अच्छा होता।

गेंदबाजों के लिए कप्तान ने कहा कि कुलदीप वाकई अद्भुत हैं। उन्होंने कई ओवर तक गेंदबाजी की और अपनी लय पकड़ ली। पाकिस्तानी बल्लेबाज यह समझ रहे थे कि उन्हें जल्द ही आक्रमण से हटा दिया जाएगा। लेकिन जिस तरह उन्होंने बाबर आजम को आउट किया वह काफी शानदार था। उन्होंने अभी तक इस टूर्नामेंट की सबसे अच्छी गेंद डाली और वह चहल के साथ काफी आत्मविश्वासी होकर गेंदबाजी करते हैं और यह टूर्नामेंट में टीम के लिए काफी महत्वपूर्ण है।

तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार के चोटिल होने पर उन्होंने कहा कि उनकी चोट फिलहाल ज्यादा गंभीर नहीं लग रही है और उम्मीद है कि वह अगले मैचों के लिए जल्द ही फिट हो जाएंगे। वह टीम के बेहद महत्वपूर्ण सदस्य हैं और हम उम्मीद करते हैं कि वह जल्दी फिट होकर मैदान में वापसी करेंगे। हालांकि हमारे पास मोहम्मद शमी भी टीम में हैं इसलिए हमें उनकी चोट को लेकर ज्यादा परेशान होने की जरुरत नहीं है। भुवी का भी मानना है कि उनकी चोट ज्यादा गंभीर नहीं है और वह जल्द फिट होकर मैदान में उतर आएंगे।