केपटाउन टेस्ट : स्विंग और पेस के आगे बेबस भारत 72 रनों से हारा

Cape Town Test: India's target of 208 runs

Cape Town Test: India’s target of 208 runs

केपटाउन। वेर्नोन फिलेंडर (6-42) के नेतृत्व में अपने तेज गेंदबाजों के बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम ने सोमवार को यहां खेले गए पहले टेस्ट मैच में भारत को 72 रनों से हरा दिया।

न्यूलैंड्स क्रिकेट मैदान पर खेले गए तीन टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले टेस्ट को चार दिन से भी कम समय में जीत कर दक्षिण अफ्रीका ने 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है। इस मैच ने तेज और उछालयुक्त गेंदों को खेलने की भारतीय बल्लेबाजों की कमजोरी को एक बार फिर उजागर कर दिया है।

भारतीय गेंदबाजों ने भी शानदार प्रदर्शन करते हुए चौथे दिन दक्षिण अफ्रीका के 8 बल्लेबाजों को महज 65 रनों पर पवेलियन लौटाया था लेकिन भारतीय बल्लेबाज अपने साथियों की मेहनत का सम्मान नहीं कर सके। मेजबान टीम की ओर से मिले 208 रनों के लक्ष्य को हासिल करने में नाकाम रही भारतीय टीम की दूसरी पारी 135 रनों पर ही सिमट गई।

फिलेंडर के अलावा दो-दो विकेट हासिल करने वाले कगीसो रबादा और मोर्ने मोर्कल की भी मेजबान टीम की जीत में अहम भूमिका रही। चौथे दिन न्यूलैंड्स मैदान पर कुल 64 ओवरों का खेल हुआ और 200 रन बने लेकिन सबसे अहम बात यह रही कि इस दिन 18 विकेट गिरे। इसमें भारत के 10 और मेजबान टीम के आठ विकेट शामिल हैं।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए दक्षिण अफ्रीका ने पहली पारी में अब्राहम डिविलियर्स (65) और कप्तान फाफ डु प्लेसिस (62) की अर्धशतकीय पारियों के दम पर 286 रनों का स्कोर खड़ा किया था।

भुवनेश्वर कुमार ने सबसे अधिक चार विकेट लिए थे, वहीं रविचंद्रन अश्विन को दो सफलता मिली थी। मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और हार्दि पांड्या को भी एक-एक विकेट मिला था।

इसके बाद भारत ने अपनी पहली पारी में 209 रन बनाए। हार्दिक पांड्या ने सबसे अधिक 93 रनों की पारी खेली। इस पारी में फिलेंडर और रबादा ने तीन-तीन विकेट हासिल किए, वहीं डेल स्टेन और मोर्केल को दो-दो सफलता मिली। स्टेन चोट के कारण दूसरी पारी में गेंदबाजी नहीं कर सके लेकिन फिलेंडर, रबादा और मोर्कल की शानदार गेंदबाजी के कारण प्लेसिस को उनकी कमी बिल्कुल नहीं खली।

दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी भारत ने 130 रनों पर ही समेट दी थी। मेजबान टीम को सस्ते में समेटने में शमी (3-28) और बुमराह (3-39) के अलावा, भुवनेश्वर (2/33) और पांड्या (2/27) ने अहम भूमिका निभाई।

लेकिन इसके बाद भारतीय बल्लेबाजों ने बेहद निराशाजनक प्रदर्शन किया। रविचंद्रन अश्विन ने सबसे अधिक 37 रनों का योगदान दिया जबकि कप्तान कोहली ने 28 रन बनाए। भारत ने एक समय 81 रनों पर ही सात विकेट गंवा दिए थे लेकिन इसके बाद अश्विन और भुवनेश्वर ने कुछ समय तक विकेट पर टिककर भारत की हार को टाला।

फिलेंडर ने इस मैच में कुल नौ विकेट हासिल किए। पहली पारी में फिलेंडर ने 23 रन भी बनाए थे। इसके अलावा उन्होंने एक कैच भी लपका। वह मैन ऑफ द मैच चुने गए। दोनों टीमों के बीच दूसरा टेस्ट मैच 13 जनवरी से सेंचुरियन के सुपर स्पोर्ट पार्क में खेला जाएगा।

क्रिकेट से जुडी और अधिक खबरों के लिए यहां क्लिक करें

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो