कुर्की के दौरान मासूम बच्ची को बंद करने का मामला, रूपनगढ़ SDM, थानाधिकारी सस्पेंड

अजमेर। राजस्थान विधानसभा में अजमेर जिले के पुष्कर विधायक सुरेशसिंह रावत द्वारा शुक्रवार को एक वित्त कंपनी द्वारा कुर्की की कार्रवाई के दौरान आठ महीने की मासूम बालिका को मकान में बंद करने के मामले को उठाने के बाद राज्य सरकार ने कड़े कदम उठाते हुए रूपनगढ़ उपखंड अधिकारी अंजु शर्मा को निलंबित कर दिया है।

अजमेर मुख्यालय पहुंची अधिकृत जानकारी के मुताबिक राज्य कार्मिक विभाग के सचिव आशीष योगी ने कल देर रात निलंबन के आदेश जारी किए। निलंबन के दौरान अंजु शर्मा को जयपुर मुख्यालय उपस्थिति देनी होगी।

इसी मामले में जिला पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप सिंह ने थानाधिकारी सुनील कुमार बेड़ा को भी निलंबित कर दिया है। दोनों पर ही राजकार्य में लापरवाही का आरोप है।

यह मामला विधानसभा में उठने के बाद राज्य सरकार ने अजमेर कलेक्टर विश्वमोहन शर्मा से मामले की जांच करके रिपोर्ट तुरंत भेजने के आदेश दिए। शर्मा ने कल मामले की जांच की और रिपोर्ट भेज दी। राज्य सरकार ने रिपोर्ट मिलते ही दोनों अधिकारियों को निलम्बित करने के आदेश दिए।

उल्लेखनीय है जिले के रूपनगढ़ उपखंड के कांस्या की ढाणी में निजी वित्त कम्पनी एसके फिनकॉर्प ने ऋण वसूली के क्रम में मकान को सीज करने की कार्रवाई के दौरान मासूम बच्ची को भी बंद कर दिया और उपखंड अधिकारी से अनुनय विनय के बावजूद परिजनों को राहत नहीं दिलाई गई। बच्ची भूखी प्यासी घंटों कमरे में अकेली बंद रही।