सीबीआई ने जेईई परीक्षा रैकेट का किया भंडाफोड़

नई दिल्ली। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने एक निजी कंपनी और उसके निदेशकों सहित तीन कर्मचारियों के खिलाफ जेईई (मुख्य) परीक्षा-2021 में कथित रूप से गड़बड़ी करने के आरोप में गुरुवार को मामला दर्ज किया। साथ ही दिल्ली-एनसीआर, पुणे और जमशेदपुर समेत विभिन्न राज्यों में करीब 19 जगहों पर तलाशी ली जा रही है।

सीबीआई ने एक बयान में कहा कि यह आरोप लगाया गया था कि कंपनी और उसके निदेशक जेईई (मेन्स) की ऑनलाइन परीक्षा में कथित रूप से हेरफेर कर रहे थे और इच्छुक छात्रों को बड़ी रकम के बदले हरियाणा के सोनीपत में एक चयनित परीक्षा केंद्र के जरिये टॉप एनआईटी में प्रवेश दिलाने में मदद कर रहे थे।

यह भी आरोप लगाया गया है कि आरोपी देश के विभिन्न हिस्सों में दसवीं और बारहवीं की मार्कशीट, यूजर आईडी, पासवर्ड और इच्छुक छात्रों के पोस्ट डेटेड चेक सुरक्षा के रूप में प्राप्त करते थे और एक बार प्रवेश हो जाने के बाद, वे प्रति उम्मीदवार 12 से 15 लाख तक भारी राशि वसूल करते थे।

सीबीआई अधिकारी ने कहा कि दिल्ली, एनसीआर, पुणे, जमशेदपुर, इंदौर और बैंगलुरु सहित 19 स्थानों पर तलाशी की जा रही है, जिसमें अब तक 25 लैपटॉप, सात पीसी, लगभग 30 पोस्ट-डेटेड चेक के साथ-साथ भारी मात्रा में आपत्तिजनक दस्तावेज और कई छात्रों की पीडीसी की मार्कशीट सहित उपकरणों की बरामदगी हुई। इस संबंध में कई लोगों से पूछताछ की जा रही है।