कार्ति चिदम्बरम को सीए के सामने बिठाकर सीबीआई करेगी पूछताछ

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया मनी लांड्रिंग मामले में गिरफ्तार पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदम्बरम के पुत्र कार्ति चिदम्बरम के लिए शुक्रवार का दिन मिलजुला रहा।

दिल्ली की पटियाला हाउस अदालत ने कार्ति की केन्द्रीय जांच ब्यूरो हिरासत को तीन दिन और बढ़ाने के साथ ही उसके चार्टर्ड अकाउंटेट एस. भास्कर रमण के समक्ष तिहाड़ जेल में बिठाकर पूछताछ करने की जांच एजेंसी की याचिका स्वीकार कर ली, जबकि उच्च न्यायालय ने राहत प्रदान करते हुए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को कार्ति को 20 मार्च तक गिरफ्तार करने से रोक दिया।

विशेष न्यायाधीश सुनील राणा ने कार्ति की सीबीआई हिरासत अवधि तीन दिन (12 मार्च तक) बढ़ा दी। सीबीआई का आरोप है कि कार्ति जांच में कतई सहयोग नहीं कर रहे हैं।

इससे पहले सीबीआई कार्ति को मुंबई की भायकला जेल ले जाकर आईएनएक्स मीडिया की पूर्व प्रमुख इंद्राणी मुखर्जी के सामने बिठाकर पूछताछ कर चुकी है।

कार्ति पर आरोप है कि आईएनएक्स मीडिया और एयरसेल मैक्सिस में निवेश के लिए विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी गलत ढंग से ली गई। दोनों मामले 2007 में उस समय के हैं, जब कार्ति के पिता पी चिदम्बरम केन्द्र में वित्त मंत्री थे।