केंद्र की सीबीएसई को सलाह, बच्चों को बिना परीक्षा अगली कक्षा में भेजें

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए सीबीएसई को सलाह दी कि पहली से आठवीं कक्षा के छात्रों को बिना परीक्षा कब सीधे अगली कक्षा में भेज दिया जाए। इसके अलावा 9 वीं और 11वीं के छात्रों को स्कूलों द्वारा आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर उन्हें अगली कक्षा में भेजा जाए।

मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने आज शाम ट्वीट कर यह जानकारी दी। मुफ्त एवं अनिवार्य शिक्षा कानून के तहत राज्य सरकार इस बारे में अपने स्कूली बोर्ड के लिए भी निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र है। केंद्र सरकार का यह सुझाव सीबीएसई द्वारा मान्यता प्राप्त सभी सरकारी गैर सरकारी स्कूलों के लिए मान्य होगा। इसमे केंद्रीय विद्यालय नवोदय विद्यालय आदि भी शामिल है।

डॉ पोखरियाल ने यह भी ट्वीट कर सुझाव दिया है कि बोर्ड की परीक्षाएं केवल 29 विषयों की ही ली जाए क्योंकि अगली कक्षा के दाखिले इन विषयों के आधार पर होता है।

सीबीएसई ने शाम को एक विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि 19 से 31 मार्च के बीच बोर्ड के जो परीक्षा और दिल्ली में दंगे के कारण जिन विषयों की परीक्षाएं नहीं हो पाईं थी, उसके बारे में स्थिति का अध्ययन कर निर्णय लिया जाएगा। बोर्ड ने उन सभी 29 विषयों की सूची भी जारी की है जिसमे शेष परीक्षाएं ली गईं हैं। छात्र सीबीएसई की वेबसाइट से सब जानकारी ले सकते हैं।