मथुरा में गोवर्धन एवं वृन्दावन परिक्रमा मार्ग में सीसीटीवी कैमरे एवं साउण्ड सिस्टम

CCTV Cameras & Sound Systems in Govardhan and Vrindavan Parikrama Road in Mathura
CCTV Cameras & Sound Systems in Govardhan and Vrindavan Parikrama Road in Mathura

मथुरा । उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद ने गोवर्धन एवं वृन्दावन मेें तीर्थयात्रियों की सुरक्षा एवं तनावरहित परिक्रमा के लिए मार्ग पर सीसीटीवी के साथ ही साउन्ड सिस्टम लगाने का निर्णय किया है।

तीर्थ विकास परिषद के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नागेन्द्र प्रताप ने गुरूवार को यहां पत्रकारों को बताया कि शुरूआत में सीसीटीवी कैमरे गोवर्धन और वृन्दावन की परिक्रमा में लगाए जाएंगे। बाद में अन्य परिक्रमा मार्गो पर भी लगाए जाएंगे। यह कदम अवांछनीय तत्वों द्वारा समय समय पर तीर्थयात्रियों के साथ लूट जैसी घटना करने तथा महिलाओं के साथ अभद्रता रोकने के लिए उठाया जा रहा है।

उन्होेंने बताया कि सीसीटीवी कैमरे नियंत्रण कक्ष से जुड़े रहेंगे। इससे अवांछनीय तत्वों को आसानी से जल्दी पकड़ा जा सकेगा। उन्होंने बताया कि इसके अलावा कच्ची परिक्रमा को कंकड़ रहित बनाया जाएगा तथा सोलर लाइट सिस्टम का नवीनीकरण किया जाएगा।

श्री प्रताप ने बताया कि निजी वाहन से परिक्रमा करने के लिए मथुरा आने वाले तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए प्रथम चरण में जुबली पार्क मथुरा में अंडरग्राउड पार्किंग बनाई जाएगी तथा उसके बगल में ही वेण्डर्स के लिए प्लेटफार्म एवं ओपेन एम्फीथियेटर का निर्माण किया जाएगा।

मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने बताया कि इसी प्रकार गोवर्धन में मल्टीलेविल कार पार्किंग बनाई जाएगी जिससे निजी वाहन से परिक्रमा करने वाले तीर्थयात्री अपने वाहन इस पार्किंग में रखकर निश्चित होकर परिक्रमा कर सकें।

उन्होंने कहा कि गोवर्धन में आने वाले तीर्थयात्रियों की संख्या अधिक होती है इसलिए उनकी समस्याओं के शीघ्र निदान के लिए परिषद का एक कार्यालय , नियंत्रण कक्ष, मीटिंग हाल तथा एक अतिथि गृह भी गोवर्धन में बनाया जाएगा।

श्री प्रताप ने बताया कि मथुरा में स्टेट बैंक चौराहे के पास रेलवे की जमीन पर स्थित पोखर को कृष्णा झील के रूप में विकसित करना, भरनाखुर्द (राधाकुंड ) स्थित सूर्यकुण्ड का जीर्णोद्धार एवं सौंदर्यीकरण, गोकुल स्थित नन्दभवन परिसर में पार्किंग से मंदिर तक के मार्ग का निर्माण, राधारानी मंदिर ,बरसाना के निकट यात्रियों के लिए जलपान गृह का निर्माण किया जायेगा।

इसके अलावा राधारानी मंदिर मार्ग पर प्रकाश की व्यवस्था, नन्दगांव में रंगीली चौक से नन्दबाबा मंदिर तक की सीढ़ियों का जीर्णोद्धार, गोकुल में रसखान समाधि के पास इन्टरप्रिटेशन सेन्टर का पुनर्विकास एवं जनसुविधा केन्द्र का पुनर्निर्माण, महाबन स्थित ब्रह्माण्ड घाट का जीर्णोद्धार एवं सौंदर्यीकरण आदि कार्य प्रमुख हैं।

प्रताप ने बताया कि गोवर्धन परिक्रमा मार्ग पर सुव्यवथित पेयजल व्यवस्था के लिए पाइप लाइन तथा आर ओ प्लांट की स्थापना भी प्रस्तावित है।
तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजाकांत मिश्रा ने बताया कि जहां 3273 लाख 75 हजार रूपये की योजनाएं स्वीकृत की जा चुकी हैं वहीं 6076 लाख नौ हजार रूपये की योजनाए स्वीकृति के लिए भेजी जा चुकी हैं। इसके अलावा 1469 लाख 66 हजार रूपये की योजनाएं स्वीकृति के लिए और भेजी जाएंगी।

उन्होंने बताया कि उक्त योजनाएं प्रथम चरण में पूरी की जाएंगी। बाद में यहां के तीर्थस्थल के लोगों से परामर्श कर वहां के विकास की योजनाएं तैयार कर उनका अनुमोदन शासन से कराया जाएगा। मिश्रा ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ब्रजभूमि का इस प्रकार से विकास चाहते हैं कि न केवल तीर्थयात्री बल्कि अंतर्राष्ट्रीय पर्यटक भी यहां पर आने के लिए योजना बनाये। उन्होंने स्पष्ट कहा कि किसी कीमत पर कार्य की गुणवत्ता से समझौता नहीं किया जाएगा।