सोशल मीडिया का दुरुपयोग रोकने कठोर कानून लायें केंद्र सरकार: पंतजलि

सोशल मीडिया का दुरुपयोग रोकने कठोर कानून लायें केंद्र सरकार: पंतजलि
सोशल मीडिया का दुरुपयोग रोकने कठोर कानून लायें केंद्र सरकार: पंतजलि

लंदन । योग गुरु स्वामी रामदेव की तस्वीर के साथ छेड़छाड़ की घटना के परिप्रेक्ष्य में पतंजलि योगपीठ ने सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के लिए एक कठोर कानून लाने की केंद्र सरकार से मांग की है।

पतंजलि के प्रवक्ता एस के तिजारावाला ने आज कई ट्वीट करके सरकार से यह अपील की। उन्होंने कहा है कि आज के युग में सोशल मीडिया का महत्व बढ़ गया है, लेकिन कुछ लोग इसे चरित्र हनन के लिए हथियार की तरह इस्तेमाल करते हैं। सोशल मीडिया के दुरुपयोग को रोकने के लिए कड़े कानून लाने की आवश्यकता है।

तिजारावाला ने अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अलावा केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद, संचार मंत्री मनोज सिन्हा और सूचना एवं प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर को भी टैग किया है।

प्रवक्ता ने कहा कि हाल के वर्षों में सोशल मीडिया सूचना का प्रमुख स्रोत बन चुका है, ऐसे में इसके दुरुपयोग को रोकने के लिए कड़े कानून लाना समय की मांग है।

उन्होंने कहा है कि किसी का चरित्र हनन करना बलात्कार से भी बड़ा अपराध घोषित किया जाना चाहिए। पतंजलि की ओर से यह ट्वीट वैसे समय किया गया है जब स्वामी रामदेव की तस्वीर से छेड़छाड़ करने वाले आरोपी व्यक्ति को नोएडा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। स्वामी रामदेव इन दिनों लंदन में योग शिविर में हिस्सा ले रहे हैं।