पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अल्पन बंदोपाध्याय का दिल्ली तबादला

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अल्पन बंदोपाध्याय को तत्काल प्रभाव से वापस बुला लिया है। सरकार के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग के निर्देश में पश्चिम बंगाल सरकार से कहा गया है कि बंदोपाध्याय को सरकार तत्काल प्रभाव से कार्यमुक्त करे। बंदोपाध्याय से कहा गया है कि वह 31 मई को कार्मिक विभाग में रिपोर्ट करें।

सरकारी आदेश में कहा गया है कि भारतीय प्रशासनिक सेवा के नियम 6 (1) के तहत मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने यह फैसला किया है। अल्पन बंदोपाध्याय वर्ष 1987 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। उनका कार्यकाल 60 वर्ष पूरे होने पर 31 मई को खत्म हो रहा है लेकिन उन्हें 3 महीने का सेवा विस्तार दिया गया है।

मुख्य सचिव को बुलाने का फैसला कोलकाता में आज हुए घटनाक्रम के बाद आया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के तूफान पीड़ित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण था। उसके बाद उनकी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक होनी थी।

इस बैठक में ममता बनर्जी आधा घंटा विलंब से पहुंची तथा बैठक में कुछ देर ही उपस्थित रहीं। मुख्यमंत्री ने राज्य को आर्थिक सहायता देने के लिए प्रधानमंत्री को कुछ कागजात सौंपे हैं।