चंडीगढ़ निगम चुनाव : आप सबसे बड़ी पार्टी, भाजपा दूसरे स्थान पर, बहुमत किसी को नहीं

चंडीगढ़। चंडीगढ़ नगर निगम चुनावों में पहली बार उतरी आम आदमी पार्टी ने धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए कुल 35 से 14 वार्डों में जीत दर्ज कर भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस जैसे बड़े राजनीतिक दलों को करारी पटखनी दी है।

निगम चुनावों की आज हुई मतगणना में आप 14 सीटों के साथ पहले स्थान पर जबकि सत्तारूढ़ भाजपा 12 वार्डों में जीत दर्ज कर दूसरे तथा विपक्षी कांग्रेस आठ वार्डों में जीत के साथ तीसरे स्थान पर रही है। वहीं शिराेमणि अकाली दल (शिअद) को एक वार्ड में जीत मिली है। इस चुनाव में किसी राजनीतिक दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है।

35 सदस्यीय निगम के सदन में चंडीगढ़ का सांसद भी पदेन सदस्य है ऐसे में स्पष्ट बहुमत के लिए किसी भी दल के पास 19 सीटें होना अनिवार्य है। आने वाले दिनों में ऐसे निगम के महापौर, वरिष्ठ उप महापौर और उप महापौर पदों के लिए अब कशमकश शुरू होने वाली है।

इस चुनाव में सबसे बड़ा झटका भाजपा को लगा है जिसे इस चुनाव में आठ सीटों का नुकसान हुआ है। पार्टी ने 2016 के चुनाव में 20 सीटें जीत कर निगम में स्पष्ट बहुमत हासिल किया था। भाजपा उम्मीदवार और महापौर रविकांत शर्मा तथा पूर्व महापौर देवेश मौदगिल चुनाव हार गए। शर्मा को आम के दमनप्रीत सिंह 828 मतों तथा मोदगिल को आप के जसबीर सिंह ने 939 मतों के अंतर से पराजित किया।

कांग्रेस को पिछले चुनाव में पांच सीटों के साथ संतोष करना पड़ा था लेकिन इस बार उसे तीन सीटों का फायदा हुआ है। शिअद को एक सीट मिली थी तथा उसने इस बार भी अपना प्रदर्शन बरकरार रखा है। स्थानीय बड़े नेताओं में कांग्रेस के हरमोहिंदर सिंह लक्की और आप के चंद्रमुखी शर्मा को हार का सामना करना पड़ा है।