बीकानेर में जालसाज गिरोह का पर्दाफाश, ठग अरेस्ट

बीकानेर। बीकानेर जिले की बज्जू पुलिस ने बीमा कम्पनियों के फर्जी अधिकारी और कर्मचारी बनकर लोगों को ठगने वाले दिल्ली के गिरोह का पर्दाफाश करते हुए एक जालसाज को गिरफ्तार करके उससे करीब साढ़े सात लाख रुपए बरामद किए हैं।

पुलिस अधीक्षक सवाई सिंह गोदारा ने बुधवार को बताया कि एक मार्च को कोलायत तहसील के चारणवाला निवासी महेशदान चारण ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उसने वर्ष 2015 में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया से जीवन बीमा की दो ऑनलाइन पालिसी कराई थी।

इसके बाद उसके पास कुछ बीमा कम्पनियों से महिलाओं और पुरुषों ने फोन के जरिये सस्ते रिण और अधिक बोनस का झांसा देकर उससे करीब छह लाख रुपए की विभिन्न पॉलिसी करा ली। इसी क्रम में उसे बोनस के रूप में 10 लाख रुपए का फर्जी चैक भेजकर उसे भुनाने के लिए तीन लाख 75 हजार रुपए पहले जमा करा लिए। इसी तरह अलग अलग तरीकों से उसे लगातार झांसा देते हुए उससे 22 लाख 50 हजार रुपए ठग लिए।

उन्होंने बताया कि मामले की जांच के लिए सहायक पुलिस उप निरीक्षक आदेश कुमार के नेतृत्व में एक दल गठित किया गया। दल ने बैंक खातों, कॉल विवरण कॉलर आईडी और पेटीएम के रिकार्ड की गहन जांच के बाद गिरोह का पता लगा लिया और दिल्ली में शाहदरा के मानसरोवर पार्क थाना क्षेत्र के अशोक नगर निवासी अमित गुप्ता को गिरफ्तार करके उससे सात लाख 60 हजार रुपए बरामद कर लिए।

उससे पूछताछ के आधार पर इस गिरोह के सरगना अंकुर वर्मा, शरद गुप्ता, रोहित सैनी, चन्दन गुप्ता, सूरजभान, उपासना भान, मौनू शाह को चिन्हित किया गया।

गोदारा ने बताया कि इनमें मौनू शाह और अन्य विभिन्न बीमा कम्पनियों के एजेंट के रूप में कार्य करते हैं। वे बीमित व्यक्तियों के नम्बर पाकर उनसे विभिन्न प्रलोभन के जरिए ठगी करते हैं। इस सम्बन्ध में बीमा कम्पनियों के कर्मचारियों और अधिकारियों की भूमिका की भी जांच की जा रही है।