IPL 2018 : चेन्नई सुपरकिंग्स संघर्षपूर्ण जीत के साथ प्लेऑफ के करीब

Chennai Super Kings beat Royal Challengers Bangalore by 6 wickets
Chennai Super Kings beat Royal Challengers Bangalore by 6 wickets

पुणे। लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा (18 रन पर तीन विकेट) की अगुवाई में गेंदबाजों के जबरदस्त प्रदर्शन की बदौलत चेन्नई सुपरकिंग्स ने छोटे स्कोर वाले मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को शनिवार को 12 गेंद शेष रहते छह विकेट से हराकर आईपीएल 11 के प्लेऑफ की तरफ मजबूती से कदम बढ़ा दिया।

चेन्नई ने बेंगलुरु को नौ विकेट पर 127 रन के मामूली स्कोर पर के बाद कुछ उतार चढाव से गुजरते हुए 18 ओवर में चार विकेट के नुकसान पर 128 रन बनाकर टूर्नामेंट में 10 मैचों में सातवीं जीत हासिल कर ली। चेन्नई के अब 14 अंक हो गए हैं और प्लेऑफ में पहुंचने के लिए उसे अब सिर्फ एक जीत की जरूरत है। चेन्नई की टीम अब तालिका में शीर्ष पर पहुंच गई है।

दूसरी तरफ इस हार के साथ विराट कोहली की कप्तानी वाली बेंगलुरु टीम की मुसीबतें बढ़ गयी हैं। बेंगलुरु की नौ मैचों में यह छठी हार है और उसे प्लेऑफ में पहुंचने के लिए अब अपने सभी पांच मैच जीतने होंगे।

चेन्नई के सामने लक्ष्य बड़ा नहीं था लेकिन 18 रन के अंतराल में एक के बाद एक तीन विकेट गंवाने के बाद अचानक ही उस पर दबाव बन गया। चेन्नई नौंवें ओवर में एक विकेट पर 62 रन की सुखद स्थिति से 13 वें ओवर में चार विकेट पर 80 रन की संकटपूर्ण स्थिति में पहुंच गई।

इसके बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और ड्वेन ब्रावो ने पूरा धैर्य दिखाया और सावधानी के साथ खेलते हुए पहले टीम को 15.5 ओवर में 100 रन तक पहुंचाया। अब जब तय हो गया कि संकट निकल गया है तो धोनी ने हाथ खोलने और मैच जल्द समाप्त करने का फैसला कर डाला।

धोनी ने 18 वें ओवर में लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल की दूसरी, तीसरी और चौथी गेंदों पर छक्के जड़कर मैच का फैसला कर डाला। ब्रावो ने आखिरी गेंद पर एक रन लेकर मैच समाप्त कर दिया। इस ओवर में 22 रन पड़े और मैच 12 गेंद पहले निपट गया।

चेन्नई के कप्तान ने 23 गेंदों पर नाबाद 31 रन में एक चौका और तीन छक्के लगाए जबकि ब्रावो ने 17 गेंदों में नाबाद 14 रन बनाये जिसमें एक छक्का शामिल है। ओपनर शेन वाटसन ने 11, अंबाटी रायुडू ने 25 गेंदों में तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 32 और सुरेश रैना ने 21 गेंदों में 25 रन बनाए।

इससे पहले बेंगलुरु टीम ने काफी ख़राब बल्लेबाजी प्रदर्शन किया। ओपनर पार्थिव पटेल 53 और टिम साउदी नाबाद 36 दो ही बल्लेबाज ऐसे थे जो दहाई की संख्या में पहुंच सके जबकि बाकी बल्लेबाजों ने विकेट पर टिकने का कोई धैर्य नहीं दिखाया।

किसी को उम्मीद नहीं थी कि स्टार खिलाड़ियों से सुसज्जित टीम ऐसा खराब बल्लेबाजी प्रदर्शन करेगी। ब्रेंडन मैककुलम पांच, कप्तान विराट कोहली आठ और एकादश में लौटे एबी डिविलियर्स एक रन बनाकर पवेलियन लौट गए। मनदीप सिंह ने सात और कोलिन डी ग्रैंडहोम ने आठ रन बनाए।

पार्थिव पटेल ने एकतरफा संघर्ष करते हुए 41 गेंदों पर 53 रन में पांच चौके और दो छक्के लगाए। साउदी ने 26 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगते हुए नाबाद 36 रन बनाये जिसकी बदौलत बेंगलुरु टीम 127 तक पहुंच सकी।

मैन ऑफ द मैच बने जडेजा ने विराट, मनदीप सिंह और पटेल को आउट किया। ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने 22 रन देकर डिविलियर्स और मुरुगन अश्विन के विकेट लिए।

ट्वंटी-20 में 300 छक्के लगाने वाले पहले भारतीय बने रोहित शर्मा