सिंधी व्यंजनों, गीत व लादा प्रतियोगिता के विजेताओं का हुआ सम्मान

अजमेर। पूज्य झूलेलाल जयन्ती समारोह समिति के संयोजन में चेटीचण्ड महापर्व पखवाड़े के तहत सिन्धी समाज महासमिति की ओर से स्वामी कॉम्पलेक्स रसोई बैंकवट हॉल में सिन्धी लाडा, गीत सिन्धी ताम (व्यंजन) नाश्ता, खाना और मिठाई की प्रतियोगिताएं में मसाले का तालमेल व प्रस्तुतीकरण के विजेताओं को सम्मानित किया गया।

संयोजक दीपक साधवाणी ने बताया कि सिन्धी लादा प्रतियागिता में प्रथम जूही लखवाणी ग्रुप व द्वितीय भारती रामचंदाणी ग्रुप रहा। सिन्धी गीत प्रतियोगिता के तहत सिन्धी एकल गीत 15 वर्ष तक में प्रथम कल्पिता कलसी व स्नेहा रायचंदाणी द्वितीय स्थान पर रही। 15 साल से उपर में प्रथम सोनी राजेश भागवाणी व द्वितीय सुनील मानवाणी रहे।

महासचिव हरि चंदनाणी ने बताया कि सिन्धी व्यंजन (ताम) प्रतियोगिता में रितु मोतीरामाणी को प्रथम व मोनिका दरियानाणी को द्वितीय व संतोष शिवनाणी तृतीय स्थान पर रही।

अध्यक्ष कवंलप्रकाश किशनानी ने बताया कि कार्यक्रम में सिन्धी ताम निर्णायकों में शकुंतला अछरिया, मुस्कान जसूजाणी, हेमा साधवाणी, लादा व गीत प्रतियोगिता में केजे ज्ञानी, हेमा साधवाणी, लता ठारवाणी ने भूमिका अदा की जिन्हें भी सम्मानित किया गया। विजेताओं को शील्ड व मंगलम एजेंसी द्वारा आकर्षक पुरस्कार प्रदान किए गए।

झूलेलाल छठी उत्सव में बही भजनों की सरिता

संयोजक रमेश महाराज ने बताया कि झूलेलाल छठी उत्सव के अवसर पर नवयुवक मण्डल द्वारा इच्छापूर्ण झूलेलाल मंदिर चांदबावड़ी पर सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया। मन्दिर पर सजावट के साथ ईष्टदेव झूलेलाल की मूर्ति पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलन कर किया गया।

घनश्याम भगत, ललित भगत, ढोलण शर्मा, के साथ कलाकारों ने लाल सांई के पंझडों पर सभी को झुमाया। बाबा घाघूमल व बाली फेरवाणी ने प्रार्थना, पल्लव, महाआरती व दीपदान कर पूजन करवाया। सेवाधारी घनश्याम दास, गोविन्दराम पारवाणी, मोतीराम, ईश्वर पारवाणी, किशनचंद सहित सेवाधारी उपस्थित थे।