चेटीचण्ड महापर्व : DRM कार्यालय स्थित शिव मंदिर में बही भजन सरिता

अजमेर। झूलेलाल जयन्ती के उपलक्ष्य में अजमेर के डीआरएम कार्यालय परिसर में स्थित शिव मंदिर पर आयोजित गीत संगीत और भजन सरिता में रेलवे में कार्यरत सिन्धी समाज बन्धुओं तथा अन्य रेलवे कर्मचारियों ने शिरकत की।

पूज्य झूलेलाल जयन्ती समारोह समिति के संयोजन में चेटीचण्ड महापर्व के सातवें दिन रेलवे झूलेलाल मण्डल की ओर से पूज्य बहिराणा साहेब, गीत संगीत, महाआरती और प्रसाद वितरण का आयोजन किया गया।

सांस्कृतिक कार्यक्रम में मशहूर कलाकार घनश्याम भगत और अनिता शिवनानी ने सिन्धी आसाणी बोली…, कोई पल्लव तो पाये…जैसे अनेक भजनों की प्रस्तुति दी। मुख्य अतिथि डीआरएम पुनीत चांवला, विशिष्ट अतिथी एडीआरएम मनीष गुप्ता, आरएस मीना, सुरक्षा अधिकारी मोहन सावलानी, संयोजक कमल मोतीयानी, हरीश खेमानी ने पूजा अर्चना व महाआरती के आयोजन में भाग लिया।

इस अवसर पर महेश आडवानी, महेश खटवानी, ओपी देवानी, वासु भावनानी, मोहन आसनानी, अशोक तोलानी, कमल मोतियानी, हेमंत मोटवानी, निता लाला, आरएस परिहार, नेमीचन्द सिवासिया, मेघा गोधरा, महेश मोहन चेलानी, अरूण गुप्ता व यूनियन के पदाधिकारी, झूलेलाल जयंती समारोह समिति के कंवल प्रकाश किशनानी, जगदीश अभिचन्दानी, रमेश टिलवानी आदि उपस्थित थे।

हालाणी दरबार साहिब में संतों के आशीर्वचन

चेटीचंड महोत्सव के उपलक्ष्य में डिग्गी तालाब के सामने हालाणी दरबार साहिब में गीत संगीत व संतों के आशीर्वचन प्राप्त हुए। समारोह में स्वामी साधुराम ने कहा कि गुणों से ही इंसान की पहचान है। चेटीचण्ड पखवाडा आयोजित कर शहर के सभी परिवारों तक संस्कार पहुंचाने का जो प्रयास किया जा रहा है उसमें संतों का सदैव आशीर्वाद मिलेगा।

हालाणी दरबार में झूलण जी मौज और बहिराणा का आयोजन

संयोजक केजे ज्ञानी ने बताया कि हालाणी दरबार साहिब में गीत संगीत के कार्यक्रम में गायक अशोक गाफिल ने भजन प्रस्तुत किए। झूलेलाल के पंझडों पर संगत ने झूमकर आनंद लिया। ’भरीअ सभा में लज तू रखदें, झूलेलाल बेडा पार…, सांई तोसां रहिजी अचे…, वाधायू चेटीचण्ड जू वाधायूं दीह सदोरो आहियो आ…भजन पर श्रोता झूम उठे। पल्लव व महाआरती के बाद प्रसाद का आयोजन किया गया। पूजा नारायण भोजवाणी ने करवाई।

समारोह में कवंलप्रकाश किशनानी, भगवान कलवाणी, गिरधर तेजवाणी, महेन्द्र कुमार तीर्थाणी, हरि चंदनाणी, जगदीश अभिचंदाणी, रमेश टिलवाणी, महेश टेकचंदाणी, डॉ. हासो दादलाणी, राकेश शर्मा, घनश्याम राजनाणी, एमटी भाटिया, नवलराय बच्चाणी, ईसरसिंह बेदी, गोप मीराणी, पार्षद मोहन लालवाणी, पूर्व पार्षद खेमचंद नारवाणी, चन्द्र भाटिया, राम गीता मटाई ईसर भम्भाणी, नरेन्द्र बसराणी, हरकिशन टेकचंदाणी, मुम्बई के जगदीश भम्भाणी, पूनम नवलाणी, राजेश आनंद, तेजू लौंगाणी, चन्द्र भाटिया, एमटी वाधवाणी, जया, सावित्री दीदी, पूरण करनाणी, नरेश रावलाणी, श्रीचन्द्र मोतियाणी, घनश्याम ठारवाणी सहित अलग अलग संगठन के कार्यकर्ता व सेवाधारी उपस्थित थे।