चेटीचण्ड महापर्व : लाडों से जीवंत हुई सिंधी संस्कृति

अजमेर। चेटीचण्ड महापर्व पखवाड़े के बारहवें दिन पूज्य झूलेलाल जयन्ती समारोह समिति के संयोजन में सिन्धी लेडिज क्लब की ओर से स्वामी कॉम्पलेक्स रसोई बैंकवट हॉल में सिन्धी लाडा, सिन्धी ताम (व्यंजन) नाश्ता, खाना और मिठाई की प्रतियोगिताएं आयोजित की गई।

कार्यक्रम संयोजक दिशा किशनानी ने बताया कि सिन्धी व्यंजन व लाडा प्रतियोगिता में करीब 50 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया। लाडा प्रतियोगिता में 10 साल की बच्ची से लेकर 70 साल की बुजुर्ग महिलाओं ने अपनी कला का हुनर दिखाया। परम्परागत लाडो की प्रस्तुति से सिंधी संस्कृति जीवंत हो उठी।

सिन्धी समाज महासमिति अध्यक्ष कंवल प्रकाश किशनानी ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि हमने इस पखवाड़े में सिन्धी संस्कृति, सभ्यता, सिन्धी व्यंजन, खान-पान, गीत, नृत्य, बोली, वेशभूषा को जीवित रखते हुए अनेकों कार्यक्रम सिन्धी समाज के प्रत्येक वर्ग में रहने वाले बन्धुओं के लिए उनकी कॉलोनियों में जाकर संत महात्माओं का आशीर्वाद पहुंचाते हुए समाज की अच्छाईयों की तरफ प्रेरित करने का प्रयास किया है।

सिन्धी एकल गीत व सामूहिक लाडा प्रतियोगिता

प्रथम वर्ग 25 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में वाद् यंत्रों के तालमेल के साथ सिन्धी गीतों की प्रस्तुतियों में नीना चन्दनानी ने ए अन्जा त मा नंडिडी आहया…, केजी ज्ञानी ने ए अर्जदार आहया, ऐबदार आहया…, हेमा हीरानी ने ए भक्तन के तारन वारा…, ज्ञानी मोटवानी ने ए सत्गुरू जे चरनन में दुनियां झुकाईन्दस…, सति हरवानी ने ए लगी अज रौनक आहे, झूलण जे दरबार में…, चन्दा थद्धानी ने ए सिन्धी साखियूं…, भारती देवी रामचन्दानी ने ए शिव षंकर जी महिमा प्यारी…, रेखा खेमानी ने अपनी प्रस्तुति दी।

द्वितीय वर्ग 10 से 25 वर्ष तक में रिया मोनानी ने जिये मुझी सिन्ध…, वैष्णवी रामचन्दानी ने रख त ज्योतन वारे ते…, अमित एण्ड ग्रुप ने सस त मुझी साडेली आहे…, पूनम नवलानी ने भक्तन के तारण वारां मुझो झूलण वारों… ने अपनी प्रस्तुति दी।

तृतीय वर्ग 10 वर्ष तक में मास्टर लक्ष्य चंदनानी ने धमाधम मस्त कलन्दर….., कुमारी कल्पिता कलसी ने गीतों की प्रस्तुति दी। सिन्धी लाड़ा में मीना एण्ड गुन्जन चन्दनानी ग्रुप, लता शर्मा एण्ड ग्रुप, आशा गुर एण्ड ग्रुप ने लाडा प्रतियोगिता में गीतो की प्रस्तुति दी। सिन्धी डांस प्रतियोगिता में जूही लखवानी ग्रुप, अनिता दरयानी सोलो, कोमल चन्दनानी, प्रेरणा अमरनानी एण्ड ग्रुप ने भाग लिया।

ताम (सिन्धी नाश्ता व भोजन) प्रतियोगिता

नेरणि (नाश्ता) प्रतियोगिता में सेजल मलानी, दीपा चोटरानी, गीता मटाई, कान्ता गिदवानी, नीता रामचन्दानी ने सिन्धी नेरणि (नाश्ता) में कोकी, दही, कचरीयां, सिवईयां आलू, दाल पकवान, सूजी का हलवा, मिर्ची फ्राई, फुलके जी कुट्टी एं पापड़ की प्रस्तुति की गई।

खाधो (खाना) प्रतियोगिता में वर्षा टहलयानी, कोमल, कोमल चन्दनानी, वन्दना साधवानी, कविता कोटाई, ज्योति भगतानी, जीया छबलानी, सन्तोष कुमारी शिवनानी, विनीता मलानी ने दोपहर व रात्री के समय खाना (खाधो) में मिक्स सेअल भाजी, भीह जी भाजी, फुलको, साही बसर में बेसन जी टिक्कीयूं एं साई थूम वारी मकई जी रोटी, सुहांजडे़ जो रायतो एं चिलडे़ जी भाजी, मैथी पुलाव, ताहिरी एं छोला, बेसन जी टिक्की बनाकर मसालों का तालमेल बनाकर प्रस्तुत किया गया।

मिठो (मिठाई) प्रतियोगिता में विशाखा चांदवानी, सत्या झामनानी, चन्दा थदानी, लीलावन्ती आसवानी, शीला कोटवानी, कल्पना साधवानी, सलोनी जैसवानी ने खोराक़, सिन्धी साटा एं ओती ड्राई फ्रुट जी, माजून एं काजू फ्राई, चौथा सिन्धी, गोन्द पाक़, पलंग तोड़ मिठाई बनाकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

कार्यक्रम के प्रारम्भ में ईष्ट झूलेलाल व स्वामी हिरदाराम साहेब के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का प्रारम्भ किया। कार्यक्रम का संचालन अनिता शिवनानी ने किया। कार्यक्रम में निर्णायको में शकुंतला अच्छरिया, चंदा साधवानी, ज्योति चांदवानी, मोनिका चेनानी, पूनम जानवानी, सतु मोतिरामानी, निर्मला लख्यानी ने भूमिका अदा की। स्वागत भाषण कंवल प्रकाश किशनानी ने और धन्यवाद हरी चन्दानी ने दिया। विजेताओं को बम्बईया चुलबुला व मंगलम एजेंसी द्वारा पुरस्कार वितरित किए गए।

इस अवसर पर ज्योति मोहनानी, प्रियंका किशनानी, नेहा जयसिंघानी, नेहा भगतानी, भारती तनवानी, पिंकी अभिचन्दानी, ज्योति मुरझानी, भारती बेलानी, रेखा टहलयानी, निशा जेसवानी, कला आसवानी, सपना लखवानी, वंदना भुरानी, रश्मि तुलसयानी, कंचन खटवानी, नवलराय बच्चानी, हरीश झामनानी, गिरधर तेजवाणी, जगदीश अबिचंदाणी, राधाकिशन आहूजा, रमेश टिलवाणी, प्रकाश जेठरा, नंेंवन्दराम बसरमलानी, नारायणदास थदानी, राम मटाई, ईसर भंभानी, प्रिया भंभानी सहित सैकड़ों समाज के महिला पुरूष उपस्थित थे।

22 मार्च गुरूवार को दीपदान

संयोजक मनीष ग्वालाणी ने बताया कि 22 मार्च को शाम 6 बजे भारतीय सिन्धु सभा द्वारा सिन्धुपति महाराजा दाहरसेन स्मारक पर शहीद हेमू कालानी जयंती की पूर्व संध्या पर दीपदान आयोजित किया जाएगा।