चेटीचण्ड महापर्व : शहीदों को किया याद, श्रृद्धासुमन अर्पित

अजमेर। चेटीचण्ड महापर्व पखवाड़े के चौदहवें दिन भारतीय सिन्धु सभा की ओर से शहीद हेमू कालाणी की जयंती के अवसर पर डिग्गी चौक पर पुष्पांजलि और देशभक्ति गीत कार्यक्रम एवं सतगुरू कॉलोनी अजयनगर में बहिराणा साहिब और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया।

पूज्य झूलेलाल जयन्ती समारोह समिति के संयोजक महेश टेकचन्दाणी ने बताया कि शहीद हेमू कालाणी की 95वीं जयंती अवसर पर सिन्धी समाज द्वारा डिग्गी चौक पर पुष्पांजलि अर्पित कर धूमधाम से मनाया गया। इसी दिन वीर क्रांतिकारी शहीद भगत सिंह, राजगुरू, सुखदेव के शहीद दिवस पर श्रृद्धांजलि देकर याद किया।

गगनचुंबी नारों के साथ देशभक्ति गीतों के अलावा झूलेलाल भगवान के गीत भी गाए गए। गीत प्रस्तुत करने वाले केजे ज्ञानी, गोविंद मनवानी, श्वेता शर्मा, घनश्याम भगत द्वारा गीतों की सरिता बहाई गई।

इस अवसर पर सिंधु सभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नवल द्वारा हेमू कालानी के जीवन पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर भगवान कलवाणी, नरेंद्र बसराणी, रमेश लखानी, नरेंद्र सोनी, तुलसी सोनी, श्वेता शर्मा, महेंद्र कुमार तीर्थानी, खेमचन्द नारवानी, कैलाश लखानी, जयकिशन लखानी, कमलेश शर्मा, रोहित जेठानी, भगवान पुरूसवाणी, खियल मंघवानी, अशोक, डॉ किशन भूरानी सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थिति थे।

सतगुरू कॉलोनी अजयनगर

संयोजक चन्द्रप्रकाश रूपाणी ने बताया कि सतगुरू कॉलोनी अजयनगर में पूज्य बहिराणा साहिब, ज्योति प्रज्जवलन, आरती, पल्लव, भण्डारा, और ज्योति विसर्जन कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत ईष्टदेव झूलेलाल के समक्ष स्वामी स्वरूपदास, स्वामी अर्जुनदास, स्वामी चेतनकृष्ण पार्षद मोहन लालवानी दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुरूआत की।

महिला बाल विकास मंत्री अनिता भदेल ने अंत में आरती की उन्हें उन्होंने समाज में हो रहे एकता के कार्य की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि पिछले 4 वर्षों से जो समाज में जो पखवारा मनाया जा रहा है वह आने वाली पीढ़ी को संस्कारित करेगा।

पूज्य बहिराणा साहिब चंद्र प्रकाश एण्ड पार्टी के गायक कलाकार लाल खूबचंदानी, देवेश लालवानी राहुल, राजेन्द्र कुमार ने प्रस्तुति दी। उन्होंने साई जे दर ते भागन वारो…, अचे अज त मुहिंजो लाल…., आयो घोड़े ते आयो मुहिंजो लाल…., मेलो झूलेलाल जो ही मेलो गाया…. आदि भजनों की प्रस्तुति दी। इस अवसर पर समिति के कंवल प्रकाश किशनानी, भगवान कलव कलवानी प्रकाश जैथरा भी उपस्थित थे।