युवक को सरेआम थप्पड जडने वाले सूरजपुर कलेक्टर को भूपेश बघेल ने हटाया

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर दवा लेने जा रहे एक युवक से अभद्रता करने और उसकी पुलिस से पिटाई करवाने वाले सूरजपुर के कलेक्टर रणबीर शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया है।

मुख्यमंत्री बघेल ने आज ट्वीट कर स्वयं यह जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट किया कि सोशल मीडिया के माध्यम से सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा द्वारा एक नवयुवक से दुर्व्यवहार का मामला मेरे संज्ञान में आया है। यह बेहद दुखद और निंदनीय है। छत्तीसगढ़ में इस तरह का कोई कृत्य कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कलेक्टर रणबीर शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं..।

उन्होने कहा कि किसी भी अधिकारी का शासकीय जीवन में इस तरह का आचरण स्वीकार्य नहीं है। इस घटना से क्षुब्ध हूं..। उऩ्होंने नवयुवक व उनके परिजनों से खेद भी व्यक्त किया है। बघेल के निर्देश पर कलेक्टर को हटाकर मंत्रालय में पदस्थ कर दिया गया है और उनके स्थान पर रायपुर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गौरव सिंह को पदस्थ कर दिया गया है।

सूरजपुर इन दिनों राज्य के सर्वाधिक कोरोना संक्रमित जिलों में शामिल है। यहां लाकडाउऩ लागू है। सप्ताह के आखिरी दो दिन सख्त लाकडाउन घोषित है। कल कलेक्टर ने लाकडाउऩ निरीक्षण के दौरान मिले एक युवक से रोक पूछताछ की और जवाब से असन्तुष्ट होकर थप्पड़ मार दिया।उनके सामने ही पुलिस ने युवक की पिटाई की।

सोशल मीडिया में कल से ही यह मामला सुर्खियों में बना है। कलेक्टर ने हालांकि सफाई दी कि सबको आपदा से बचाना है, किसी को दुख पहुंचा तो उऩ्हे खेद है। उन्होने कहा कि वह स्वयं तथा उनका परिवार भी संक्रमित हो चुका है, वह नहीं चाहते कि लोग इसकी चपेट में आए।