छत्तीसगढ़ : रेप आरोपी IAS जनक प्रसाद पाठक को सस्पेंड करने के निर्देश

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जांजगीर-चांपा जिले में पूर्व पदस्थ आईएएस अधिकारी के विरुद्ध बलात्कार का मामला दर्ज होने को गंभीरता से लेते हुए उसे निलम्बित करने का निर्देश दिया है।

बघेल ने आज मुख्य सचिव आरपी मण्डल को जांजगीर के पूर्व कलक्टर जनक प्रसाद पाठक को तत्काल निलंबित करने और पूरे प्रकरण की जांच उच्च स्तरीय दल से कराने के निर्देश दिए है।आरोपी आईएएस के खिलाफ जांजगीर पुलिस ने कल एक महिला की शिकायत पर बलात्कार का मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू की है।

पीडित महिला ने कल ही जांजगीर की पुलिस अधीक्षक पारूल माथुर से सुबूतों के साथ आवेदन देकर बताया था कि जिले के निवर्तमान कलेक्टर ने उसके शासकीय कर्मचारी पति को नौकरी से बर्खास्त करने की धमकी देकर गत 15 मई को कलेक्ट्रेट स्थिति अपने चैम्बर के निजी कक्ष में उसके साथ बलात्कार किया। इसके बाद कलेक्टर ने कई बार धमकी देकर उसके साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाए। पीडिता ने शिकायत के साथ कलेक्टर द्वारा बार बार मैसेज एवं चित्र भेजने की भी जानकारी दी।

पीडिता ने पुलिस अधीक्षक को सुबूत के तौर मोबाइल स्क्रीन शाट एवं बातचीत की रिकार्डिंग भी सौंपी। उसने यह भी बताया कि कलेक्टर के पद से जिले से हटने के बाद ही वह शिकायत करने का साहस कर सकी। मामले की प्रथमादृष्टया जांच में आरोपों को सही मानते हुए कल ही आईएएस के खिलाफ जांजगीर थाने में मामला दर्ज कर लिया गया। पुलिस ने संकेत दिया है कि निलम्बन के बाद आरोपी अधिकारी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

आरोपी अधिकारी को पिछले सप्ताह राज्य में आईएएस अधिकारिर्यों के बडे पैमाने पर हुए फेरबदल में जांजगीर के कलेक्टर के पद से हटाकर मंत्रालय में पदस्थ किया गया था।