छत्तीसगढ़ ने अपने एक अभिभावक को हमेशा के लिए खो दिया-रमन सिंह

Chhattisgarh has lost a guardian forever - Raman Singh
Chhattisgarh has lost a guardian forever – Raman Singh

रायपुर । छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के राज्यपाल बलरामजी दास टंडन के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है।

डा.सिंह ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत में टंडन को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उनका निधन उनके लिए व्यक्तिगत क्षति है। उनके लिए वह पिता तुल्य थे।वह एक अभिभावक के रूप में थे,और 60 वर्ष तक सक्रिय भूमिका निभाई। वह जनसंघ के गठन से लेकर भाजपा की स्थापना तक संगठन में लगातार सक्रिय रहे। वह संगठन के पितृ पुरूष के रूप में रहे।

उन्होने बताया कि वह बहुत ही हिम्मत वाले एवं दूरदृष्टि वाले नेता थे।राज्यपाल के रूप में वह छत्तीसगढ़ के विकास को लेकर काफी सजग रहते थे। उन्होने कहा कि गत चार वर्षों में प्रदेश के हितों को लेकर और प्रदेशवासियों की बेहतरी से जुड़े विषयों को लेकर मुझे हमेशा उनका मार्गदर्शन मिलता रहा। उन्होने कहा कि उऩके निधऩ से एक राजनीतिक युग समाप्त हो गया।

डा.सिंह ने बताया कि स्वं टंडन का पार्थिव शरीर राजभवन में शाम चार बजे 05 बजे तक लोगो को अन्तिम दर्शन के लिए रखा जायेगा।उसके बाद राज्य मंत्रिमंडल द्वारा उऩ्हे श्रद्धांजलि अर्पित की जायेगी। इसके बाद आज ही शाम उनका पार्थिव शरीर विमान से अन्तिम संस्कार के लिए चण्डीगढ़ ले जाया जायेगा।