चीन ने मानवाधिकार वकील का लाइसेंस रद्द किया

China: Prominent human rights lawyer loses license to practise
China: Prominent human rights lawyer loses license to practise

बीजिंग। राष्ट्रपति शी जिनपिंग की आलोचना वाला खुला पत्र प्रकाशित करने के बाद प्रशासन ने चीनी वकील व मानवाधिकार कार्यकता यू वेनशेंग का लाइसेंस रद्द कर दिया है। असंतुष्टों व कार्यकर्ताओं की ओर से कई मुकदमों को लड़ने वाले वकील ने कहा कि मैं ऐसा होने की उम्मीद कर रहा था, क्योंकि हालिया वर्षों में मैं कई मानवाधिकार मामलों में शामिल रहा हूं।

समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक ब्यूरो ऑफ जस्टिस ने सोमवार को उन्हें एक नोटिस भेजा, जिसमें कहा गया कि वर्तमान में किसी भी लॉ फर्म में काम नहीं करने के कारण यू का लाइसेंस रद्द किया जा रहा है।

वकील ने दावा किया कि यह सरकार की चाल है। अधिकारी विभिन्न लॉ फर्म पर उन्हें काम पर नहीं रखने का दबाव बनाते रहे हैं। यू ने हाल ही में आवश्यक कार्यवाही शुरू करने के लिए अपना लॉ फर्म बनाने का फैसला किया था, हालांकि प्रशासन ने उनकी इस कोशिश को भी नाकाम कर दिया। लाइसेंस फिर से पाने के लिए यू को ‘ब्यूरो ऑफ जस्टिस’ द्वारा आयोजित परीक्षा में शामिल होना होगा।

वकील ने संदेह व्यक्त किया कि एक खुले पत्र के प्रकाशन के बाद प्रतिशोध लेने के लिए उनके लाइसेंस को रद्द कर दिया गया। पत्र में उन्होंने दावा किया था कि देश के ऊपर अधिनायकवादी नियंत्रण बढ़ाने के लिए शी जिनपिंग बतौर राष्ट्रपति बने रहने के लिए उपयुक्त नहीं थे।

पिछले साल अक्टूबर में हुए चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की 19वीं राष्ट्रीय कांग्रेस के अधिवेशन के पहले प्रकाशित पत्र में यू ने चीन के लिए पार्टी में सुधार लाने का आह्वान किया था, जिसमें स्वतंत्रता, लोकतंत्र, मानवाधिकार और कानून का शासन कायम करने की मांग की गई थी।