खतरा टला : चीनी रॉकेट सीजेड-5बी-वाई2 हिन्द महासागर में गिरा

हैदराबाद। चीनी रॉकेट सीजेड-5बी-वाई2 वायुमंडल में फिर से प्रवेश करने के बाद रविवार को हिंद महासागर में गिरकर नष्ट हो गया। अमरीकी अंतरिक्ष बल के 18वें अंतरिक्ष नियंत्रण स्क्वैड्रन ने इसकी पुष्टि की है।

प्लैनेटरी सोसाइटी ऑफ इंडिया (पीएसआई) के निदेशक एन रघुनंदन कुमार ने यह जानकारी की और बताया कि चीनी राकेट किस स्थान पर गिरा है, इसका पक्के तौर पर उल्लेख नहीं किया गया है लेकिन कहा गया है यह जगह सउदी अरब के रुब अल खली रेगिस्तान में मालदीव के उत्तर में कहीं पर है।

कुमार ने बताया कि चीनी रॉकेट ने आज सुबह पृथ्वी के चारों ओर एक चक्कर लगाते हुए भारत में मुंबई और हैदराबाद के ऊपर से उड़ा और आखिर में हिन्द महासागर में गिर गया। उन्हाेंने कहा कि प्रामाणिक स्रोतों से सूचनाएं धीरे-धीरे 15 से 60 मिनट के अंतराल में अद्यतन हो रही है।

चीन के रॉकेट का वायुमंडल मेंं प्रवेश के बाद अधिकांश हिस्सा जला

चीन के लांग मार्च -5 बी वाई 2 वाहक रॉकेट के अंतिम चरण में वायुमंडल में प्रवेश करने के बाद रविवार सुबह हिन्द महासागर में गिर गया। चीन मानवयुक्त अंतरिक्ष एजेंसी (सीएमएसए) ने ताया कि रॉकेट का अधिकांश हिस्सा वायुमंडल में प्रवेश के दौरान ही जल गया था और मलबे का बाकी हिस्सा 2.65 डिग्री उत्तरी अक्षांश और 72.47 डिग्री पूर्वी देशांतर मेंं हिन्द महासागर में गिर गया है।

चीन के अंतरिक्ष स्टेशन के निर्माण के लिए पहला और मुख्य मॉड्यूल तियानहे मॉड्यूल ले जाने वाला लांग मार्च -5 बी वाई 2 रॉकेट 29 अप्रैल को दक्षिणी द्वीप प्रांत हैनान के तट पर वेनचांग अंतरिक्षयान लॉन्च साइट से प्रक्षेपित किया गया था।

यह भी पढें
sabguru.com/ सबगुरु अजमेर हिन्दी न्यूज
Sabguru News in English अंग्रेजी न्यूज
सबगुरु फेसबुक पेज लाइक करें, हर पल रहें अपडेट
YouTube सबगुरु न्यूज चैनल के लिए यहां क्लीक करें
Sabguru बॉलीवुड न्यूज
Sabguru अजब गजब न्यूज
Sabguru स्पोर्टस न्यूज