प्रतापगढ़ जिले में क्लोरिन गैस रिसाव से मचा हडकंप

Chorin gas leakage in Pratapgarh district
Chorin gas leakage in Pratapgarh district

जयपुर । राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले के छोटी सादडी में आज तड़के क्लोरिन गैस रिसाव से हड़कंप मच गया और लोगों को नींद से जगाने के लिये प्रशासन को काफी मशककत करनी पडी।

पुलिस के अनुसार तड़के लगभग तीन बजे अज्ञात कारणों से जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग में रखे क्लोरिन गैस के सिलेंडर में लीकेज हो गया जिससे वातावरण में गैस फैल गयी।

गैस रिसाव की सूचना पाकर मौके पर पुलिस, प्रशासन और जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारी मौके पर पहुचें और गैस रिसाव को रोकने का प्रयास किया। गैस रिसाव पर काबू पाने के लिये दमकलों से पानी का छिड़काव किया गया और पाउडर डालकर उसे फैलने से रोकने की कोशिश की गयी।

पुलिस ने लोगों को नींद से जगाने और घरों से बाहर निकालने के लिये जोर से सायरन बजाना पडा। सायरन की आवाज से उनीदें नागरिकों ने बाहर आकर जानकारी ली जिसके बाद लोगों में अफरा-तफरी मच गयी।

जन स्वास्थ्यस विभाग के जिस कमरे में गैस रिसाव हुआ था उसके पास के कमरे में एक कर्मचारी सो रहा था। जिसे जगाने के लिये सहायक अभियंता प्रेम सिंह हिंगड ने अपने हाथों से कांच का शीशा तोडकर उसे बाहर निकाला।

जनस्वास्थ्य विभाग के अधिशाषी अभियंता प्रेम प्रकाश मीणा ने बताया कि वभाग ने पानी को शुद्ध करने के लिये ब्लीचिंग पाउडर के साथ ही क्लारिक गैस भी रखी हुयी थी। उसके वाल्व में खराबी आने से गैस लीक हो गयी जिस पर काबू पा लिया गया है और इससे कोई नुकसान नही हुआ है।

उल्लेखनीय है कि 1984 में भोपाल में हुयी क्लोरिन गैस रिसाव की घटना में काफी संख्या में लोगों की मौत हो गयी थी और हजारों की संख्या में लोग शारारीक रूप से प्रभावित हुये थे।