Delayed News: आखिर किस हद तक जाएगी सिरोही कांग्रेस की गुटबाजी

सिरोही में अम्बेडकर सर्किल ओर गलवान घाटी के शहीदों को मौन श्रद्धांजलि अर्पित करते कोंग्रेस पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता।
सिरोही में अम्बेडकर सर्किल ओर गलवान घाटी के शहीदों को मौन श्रद्धांजलि अर्पित करते कोंग्रेस पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता।

सिरोही। आल इंडिया कांग्रेस के आह्वान पर शुक्रवार को देशभर में ब्लॉक स्तर पर गलवान घाटी में शहीद हुए भारतीय सेना के जवानों के सम्मान में श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई थी। सिरोही में भी हर जिला स्तर और ब्लॉक पर ये कार्यक्रम हुए। लेकिन जिला स्तरीय कार्यक्रम से संयम लोढ़ा गुट के सिरोही शहर के नेता और कार्यकर्ता नदारद ही रहे। शहीदों के सम्मान से ज्यादा इनके लिए इनके नेता का गौरव ज्यादा अहम रहा।

सभापति, नगर अध्यक्ष और पार्षद तक नहीं

कांग्रेस जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में नगर परिषद के पीछे अम्बेडकर सर्किल पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष जीवाराम आर्य के नेतृत्व में श्रद्धांजलि सभा हुई। सिरोही जिले के कई इलाकों के कांग्रेस के नेता इसमें आए, लेकिन सिरोही शहर कांग्रेस के संयम लोढ़ा गुट के जनप्रतिनिधियों, पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की मौजूदगी इस एक घण्टे की सभा में नहीं दिखी। सभापति मनु मेवाड़ा, नगर अध्यक्ष जितेंद्र ऐरन, उप सभापति जितेंद्र सिंघी, पूर्व नेता प्रतिपक्ष ईश्वरसिंह डाबी समेत कांग्रेस के दो दर्जन पार्षदों भी गैर मौजूद रहे।

इतनी गैर मौजूदगी इत्तेफाक तो नहीं

संयम लोढ़ा गुट के आधे नेता नहीं आएं तो इत्तेफाक मान सकते हैं। तीन चौथाई नहीं आएं तो भी इत्तेफाक हो सकता है। लेकिन लगभग सभी का नदारद होना इत्तेफाक तो नहीं हो सकता। कांग्रेस (एस) हो या कांग्रेस (जे) जिला स्तर पर भले ही अपने हितों के टकराव को लेकर विपरीत दिशा में जा सकते हैं, लेकिन राष्ट्रीय स्तर से मिले कार्यक्रम में इस तरह की असहमति निःसन्देह इसे किसी के लिए भी इत्तेफाक मानने को लेकर आंतरिक द्वंद्व पैदा कर सकती है।

ये लोग थे मौजूद

एआईसीसी के आह्वान पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष जीवाराम आर्य की अगुवाई में शहिदो को सलाम दिवस का आयोजन कर शहिदो को श्रद्धासुमन अर्पित किए गए। आम्बेडकर प्रतिमा के सामने हुई इस सभा में प्रदेश कांग्रेस सचिव इन्दरसिंह देवड़ा, जिला संगठन महासचिव जैसाराम मेघवाल, उपाध्यक्ष भूपेन्द्रसिंह सोलंकी, एडवोकेट मुनव्वर हुसैन, रतनलाल प्रजापत, महासचिव पुखराज परिहार, अचलसिंह बालिया, दलपत सिंह नागाणी, एडवोकेट महेन्द्र चौहान, लक्ष्मण हीरागर, पदमाराम चौधरी, शिवशंकर करमावत, भरत राणा, प्रवक्ता संजय वर्मा ने श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

परबतसिंह काबा, अंकुर रावल, सचिव जीवन प्रकाश आर्य, प्रवीण नाथ गोस्वामी, कालूराम माली, फिरोज रंगरेज, रामसिंह सिसोदिया, महिपाल सिंह देवड़ा, श्रवणसिंह राव, ब्लाॅक कांग्रेस प्रभारी मोहनलाल सिरवी, नगर प्रभारी जयंती माली, पिंडवाड़ा नगर कांग्रेस अध्यक्ष सुरेश रावल, महिला ब्लाॅक अध्यक्ष अनीता कंवर, सुमित्रा परमार, अजा विभाग के जिलाध्यक्ष गलबाराम गोयल, पूर्व सरपंच जबरसिंह चौहान, कालंद्री नगर अध्यक्ष महेन्द्र सिंह गहलोत आदि ने भी श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

महिला अध्यक्ष मीना भाटी, आईटी सेल के संयोजक नटवरसिंह गहलोत, एडवोकेट सुन्दर लाल मोसलपुरिया, पंचायत समिति सदस्य छगनलाल सोलंकी, वरिष्ठ व कर्मठ कांग्रेसी रमणलाल जैन, मिश्रीमल चौहान, सत्तार मोहम्मद गुजराती, रुपाराम खत्री, महेन्द्र रावल धनारी, मदनलाल सैन, मोहम्मद सत्तार कुरैशी, फिरोज पठान, वली मोहम्मद अनादरा, सदाराम आर्य, युवराज परमार, मेहबूब अली नागोरी, उमेश अग्रवाल, शाहिद शाह, चेलाराम कलबी, नरेश रावल, प्रभाराम देवासी, धनराज कलबी, शंकरलाल परमार, युसुफ मंसुरी, सुजानसिंह सोलंकी, जितेन्द्र पाल सिंह, चुन्नीलाल माली,काया देवी राणा, अशरफ हुसैन, वीरेन्द्र सिंह आदि ने सबके साथ मौन श्रद्धांजलि अर्पित की।

इनका कहना है…

वहां कोई पार्षद नहीं आया क्या? मेरे पास इस कार्यक्रम का संदेश आया था। इसे सभी पार्षदों को सर्कुलेट भी कर दिया था। मेरे मामा का देहावसान हुआ था उनके तीसरे की बैठक थी उसमें गया था, शाम को आया।
मनु मेवाड़ा
सभापति, सिरोही।

मेरे पास सूचना तो आई थी। लेकिन लॉक डाउन से ही मैं माउंट आबू में हूं। कार्यकारणी अभी गठित नहीं हुई है।
जितेंद्र ऐरन
नगर अध्यक्ष, नगर कांग्रेस, सिरोही।

सिरोही ब्लॉक कांग्रेस का कार्यक्रम जावाल रखा था। ब्लॉक कोंग्रेस में सिरोही शहर को छोड़कर 31 ग्राम पंचायतें आती हैं।
किशोर पुरोहित
अध्यक्ष, ब्लॉक कांग्रेस सिरोही।