गहलोत का प्रदेशवासियों का सरकार के फैसले का सहयोग करन का आह्वान

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी लहर के बढ़ने पर चिंता व्यक्त करते हुए प्रदेशवासियों का आह्वान किया है कि इस पर नियंत्रण पाने के लिए सरकार ने जो फैसले लिए हैं उनका सहयोग करें, हौंसला बुलंद रखें, सरकार साथ खड़ी मिलेगी।

गहलोत आज रात आठ बजे प्रदेशवासियों को संबोधित करते हुए यह आह्वान किया। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के कारण नये मामलों के ज्यादा बढ़ जाने पर सभी वर्गों से बात करने पर सबने विश्वास दिलाया नहीं चाहते हुए भी सख्त कदम उठाने का निर्णय लिया गया। अब जनता को सरकार इस बारे में लिए गए फैसलों का सहयोग करें ताकि यह नौबत नहीं आए कि पुलिस द्वारा सख्ती बरतनी पड़े।

उन्होंने कहा कि तब जाकर इस महामारी को काबू में कर सकेंगे। उन्होंने प्रदेश की जनता पर पूरा भरोसा जताते हुए कहा कि उन्हें विश्वास है कि इसमें सहयोग करने में कोई कमी नहीं रखी जाएगी।

उन्होंने पड़ौसी राज्यों की स्थिति ज्यादा चिंताजनक बताते हुए कहा कि हम उनसे सबसे अच्छी स्थिति में है। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा हालात खराब है और देश में डरावना दृश्य बना हुआ है।

उन्होंने कहा कि हम नहीं चाहते कि लाकडाउन लगे। नहीं चाहते हुए भी वीकेंड कर्फ्यू लगाया गया है। उन्होंने कहा कि पिछली बार सबकी मदद से कोरोना जंग जीत ली थी। लेकिन इस बार मामले तेजी से बढ़े और अब सात हजार नए मामले आने लगे हैं। एक दिन में तीस से अधिक लोग मारे जाने लगे हैं। इस बार कोरोना तेज एवं घातक रुप ले रहा है।

अब जो स्थिति बनी है उसमें सावधानी बरतने एवं कोरोना प्रोटोकॉल की पालना करने की जरूरत है। कोरोना का बचाव ही उपचार है, हाथ बार-बार धोएं, मास्क लगाएं, सोशल डिस्टेंसिंग रखें। हमारा कोरोना मैनेजमेंट शानदार रहा, प्रदेश में कोई व्यक्ति भूखा नहीं सोए, सरकार ने गेहूं, दाल का इंतजाम किया, हमारा पूरा ध्यान प्रदेशवासियों की समस्याओं पर है।

देश में कोरोना की दूसरी लहर खतरनाक लेकिन सरकार लोगों की जान बचाने में किसी तरह की कोई कमी नहीं रखेंगी। उन्होंने कहा कि आमजन के जीवन की रक्षा करना हमारा कर्तव्य, जान है तो जहान है। उन्होंने कहा कि सरकार केन्द्र सरकार के संपर्क में और ऐसे समय में राज्यों को और वैक्सीन भेजे। उन्होंने कहा कि मैंने दूसरी वैक्सीन लगवा ली है आप सबको लगाना है।