राजस्थान के 62 लाख बच्चों के लिए अन्नपूर्णा दूध योजना शुरू

CM Vadsundhara Raje launches Annapoorna Milk Scheme for Students
CM Vadsundhara Raje launches Annapoorna Milk Scheme for Students

जयपुर। राजस्थान के सरकारी विद्यालयों में मिड डे मिल योजना के तहत पहली बार राज्य के 62 लाख छात्र छात्राओं के स्वास्थ्य के लिए सोमवार से दूध उपलब्ध कराया गया।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इस महत्वकांक्षी अन्नपूर्णा दूध योजना की शुरूआत राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय, दहमींकला, जयपुर में अपने हाथों से बच्चों को गर्म दूध पिलाकर की जबकि राज्य के सभी जिलो में जिला प्रभारी मंत्री तथा ब्लाॅक स्तर पर स्थानीय जन प्रतिनिधियों ने स्कूलों में बच्चों को गर्म दूध पिलाया।

उन्होंने जयपुर में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में कहा कि यह योजना हमारे खुशहाल और स्वस्थ भविष्य की नींव है। प्रदेश के सरकारी स्कूलों ओर मदरसे में पढ़ने वाले बच्चों को स्वस्थ रखने की जिम्मेदारी राज्य सरकार ने उठा ली है ऐसे में उनके अभिभावकों को बच्चों के स्वस्थ रखने की चिंता से मुक्ति मिलेगी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के नौनिहालों के लिए सरकार ने अन्नपूर्णा दूध योजना शुरू की है। जब ये बच्चे मिड-डे मील के साथ दूध पीकर स्वस्थ बनेंगे, तो हमारा आने वाला कल बेहतर होगा।

राजे नेे इस योजना में महिला दुग्ध उत्पादक समितियों के जरिए दूध की आपूर्ति को प्राथमिकता देने पर जोर देते हुए कहा कि जिस तरह एक माता अपने बच्चों के दूध के लिए गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं करतीं। उसी तरह महिला दुग्ध उत्पादक समितियों से जुड़ी महिलाएं भी गुणवत्ता बनाए रखेंगी। उन्होंने कहा कि इस योजना से सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के पोषण स्तर में सुधार तो होगा ही, स्कूलों में नामांकन और ठहराव भी बढ़ेगा।

कार्यक्रम में शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि बालकों के पोषण स्तर में सुधार की दिशा में यह योजना मील का पत्थर साबित होगी। योजना के तहत कक्षा एक से पांच तक के बच्चों को 150 एमएल तथा कक्षा 6 से 8 तक के विद्यार्थियों को 200 एमएल दूध विद्यालयों में प्रदान किया गया।

अजमेर संवाददाता के अनुसार जिले के प्रभारी मंत्री हेमसिंह भडाना ने सावित्री कन्या महाविधालय में छात्रों को दूध पिलाकर शुरूआत की। उन्होंने शिक्षा क्षेत्र से जुड़े लोगों का आह्वान किया है कि वे योजना को सफल बनाने में योगदान दें। उन्होंने कहा कि शिक्षा मानवता के विकास की महत्वपूर्ण कड़ी है और स्वस्थ मानव स्वस्थ विकास के ध्येय को लेकर सभी छात्र छात्राओं को निश्चित समय में दूध पिलाने का काम पूरा करें।

बीकानेर संवाददाता के अनुसार जल संसाधन मंत्री डॉ. रामप्रताप ने राजकीय महारानी बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में बालिकाओं को दूध पिलाने के अवसर पर कहा कि स्वस्थ बच्चे भविष्य में देश और समाज के विकास में भागीदार बनेंगे।

उन्होंने कहा कि दूध में पोषण के सभी गुण मौजूद हैं। प्रत्येक बच्चे को गुणवत्तायुक्त दूध मिले और वे स्वस्थ रहकर अपने परिवार, समाज और देश के विकास में भागीदार बनें, इसे ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की पहल पर पूरे राज्य में यह योजना शुरू की गई है।