भारत शरीफ हैं, मगर कमजोर नहीं : वसुंधरा राजे

cm Vasundhara Raje at 20th anniversary of pokhran conference by bharatiya janata yuva morcha baran

बारां। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में भारत की साख और धाक पूरी दुनिया में कायम होना बताते हुए कहा है कि हम शरीफ जरुर है लेकिन कमजोर बिल्कुल नहीं हैं।

राजे शुक्रवार को पोकरण परमाणु परीक्षण की 20वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में भारतीय जनता युवा मोर्चा की ओर से आयोजित युवा शक्ति सम्मेलन में बोल रही थी। उन्होंने कहा कि भारत सभी देशों के साथ भाईचारे में विश्वास रखता हैं, मगर कोई आंख उठाकर देखेगा तो हम उसे अपनी ताकत भी बता सकते हैं और सर्जिकल स्ट्राइक इसका प्रमाण है।

उन्होंने कहा किे मेरा सौभाग्य रहा है कि पोकरण में परमाणु परीक्षण के समय मैं तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में विदेश राज्यमंत्री थी। उस समय अमरीका सहित कई देशों ने भारत पर कई प्रकार के प्रतिबंध लगाए, लेकिन उस वक्त अटल सरकार अपने इरादों पर अटल रही। राजे ने कहा कि हमारा उद्देश्य किसी को आंख दिखाना नहीं, हमारी शक्ति का आकलन कराना था।

उन्होंने कहा कि हमारे देश के लिए मानवता ही सर्वोपरि है, इसी कारण पूरी दुनिया में हमारी प्रतिष्ठा है। मोदी की अगुवाई में आज हिंदुस्तान पहली बार शक्तिशाली राष्ट्र के रूप में जाना जा रहा है। उन्होंने आज के दिन को गौरव का दिन बताते हुए कहा कि आज से देश-प्रदेेश का युवा मोर्चा हर विधानसभा में जाकर युवाओं को राष्ट्रभक्ति का संकल्प दिलाएगा, क्योंकि युवा ही हमारी ताकत है और देश का भविष्य है।

श्रीमती राजे ने कहा कि विधानसभा एवं लोकसभा चुनाव अब नजदीक हैं, इसलिए युवा मोर्चा चुनाव की तैयारियों में जुट जाए। सरकार की योजनाओं की जानकारी जन-जन तक पहुंचाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र एवं राज्य की भाजपा सरकार ने युवाओं के लिए कई महत्वपूर्ण काम किए हैं, जो अभी तक नहीं हो सके थे।

उन्होंने कहा कि बारां के विकास में सरकार ने कोई कसर नहीं छोड़ी है और आगे भी नहीं छोड़ेंगे। सरकार ने बारां जिले के विकास पर साढ़े चार साल में ही 4 हजार 700 करोड़ रुपए स्वीकृत किए।

उन्होंने कहा कि करीब सात हजार करोड़ रुपए की परवन सिंचाई परियोजना से 312 गांवों की 93 हजार हेक्टेयर भूमि पर सिंचाई होगी तथा 936 गांवों को पीने का पानी मिलेगा।

इसी तरह 233 करोड़ रुपए की हथियादेह सिंचाई परियोजना, करीब 204 करोड़ रुपए की ल्हासी सिंचाई परियोजना, 79 करोड़ रुपए की नागदा-अंता-बलदेवपुरा पेयजल परियोजना, 90 करोड़ रुपए से अटरू-शेरगढ़ पेयजल परियोजना के बड़े काम शामिल हैं।

इस अवसर पर कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए अह्म कदम उठाए हैं और तीस लाख किसानों का कर्ज माफ कर बड़ी राहत पहुंचाई है।