सिरोही कलक्टर ने करवाई कर्मचारियों की स्वास्थ्य जांच, रिपोर्ट आई तो हुए चिंतित

Medical team screening health of employee of sirohi collecterate
Medical team screening health of employee of sirohi collecterate

सबगुरु न्यूज-सिरोही। स्टाफ का अभाव और अनियमित दिनचर्या ने सिरोही कलक्टरी के करीब दो दर्जन कर्मचारियों को हाइपरटेंशन जैसी चिंताजनक बीमारी का शिकार बना दिया है। जिला कलक्टर संदेश नायक के निर्देश पर बुधवार को जिला कलक्टरी के 103 तीन अधिकारियों व कर्मचारियों के वेलनेस टेस्ट में यह सामने आया। इस रिपोर्ट ने जिला कलक्टर को भी सोचने पर मजबूर कर दिया है।

जिला कलक्टर संदेश नायक ने बुधवार को कलक्टरी में कार्यरत कर्मचारियों व अधिकारियों की स्वास्थ्य को जानने के लिए बुधवार को अटल सेवा केन्द्र में वेलनेस टेस्ट शिविर रखवाया। यह शिविर चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा राष्ट्रीय केंसर, मधुमेह, ह्रदय रोग व पक्षाघात बचाव एवं नियन्त्रण कार्यक्रम के अन्तर्गत एनसीडी स्क्रिनिग के कार्यक्रम का हिस्सा था।

इसमें विभिन्न विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों में गैर संचारी रोगों की स्क्रिनिगं की गई। शिविर में 103 अधिकारियों व कर्मचारियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया, जिसमें हाइपरटेंशन के 24, डायबिटीज के 9 एवं प्रि डायबिटीज के 14 रोगी पाए गए।
-स्क्रीनिंग के बाद दिया परामर्श
इस शिविर में समस्त विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों के स्वास्थ्य कि जांच के बाद आज कल की जीवन शैली में बढते गैर संचारी रोगों के संदर्भ में आवश्यक परामर्श भी दिया गया। शिविर में लैब टेक्निशियन के द्वारा आवश्यक निःशुल्क जांचें व दवाइयों का वितरण भी किया गया।
-जिला चिकित्सालय में होता है इलाज
डाॅ. प्रवीण सिंहानिया ने बताया कि यदि यहां पर परीक्षण में किसी बीमारी का पता चलता है तो उसे जिला राजकीय सामान्य चिकित्सालय में सम्पूर्ण स्वास्थ्य परीक्षण करवाया जाता है। शिविर में डाॅ प्रवीण सिंहानिया, एपिडिमियोलाॅजिस्ट धन्नीराम, लैब टक्निशियन राजेश चैधरी, दीपक जैलिया और कम्प्यूटर आॅपरेटर बलवान नें सेवायें दी।
-आप भी करवा सकते हैं स्क्रीनिंग
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ सुशील कुमार परमार ने बताया कि जिला चिकित्सालय, सिरोही में कमरा संख्या 41 में एनसीडी क्लिनिक संचालित है। यहां पर प्रतिदिन एनसीडी स्क्रिनिंग की सुविधा उपलब्ध है। आधुनिक जीवन शैली से गैर संचारी रोगों के होने की सम्भावना बनी रहती है जिसके मुख्य कारण – मानसिक तनाव, मोटापा, बढती उम्र, तम्बाकू का उपयोग, सडेन्टरी लाइ्रफ स्टाईल, फास्ट फूड का बढता उपयोग आदि है।

इन रोगों से बचाव के लिए शारीरिक गतिविधि बढाना, तेल-घी, शक्कर एवं नमक का सेवन कम करना, फल-सब्जियों का भरपूर सेवन करना, सन्तुलित भोजन, तनाव मुक्त जीवन, तम्बाकू-धूम्रपान एवं शराब का सेवन ना करना साथ ही 30 वर्ष एवं इसके उपरान्त नियमित अन्तराल पर स्वास्थ्य जांच करवाते रहना चाहिए।
-इनका कहना है…
स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता के लिए यह जांच करवाई थी। कलक्टरी के कार्मिकों का हाइपरटेंशन की शिकायत मिली। संभवतः यह स्टाफ के अभाव में अत्यधिक काम के कारण हुआ हो। कर्मचारियों के स्वास्थ्य के लिए शीघ्र ही योगा व अन्य आवश्यक कदम उठाए जाएंगे, जिससे काम के बोझ के कारण वह बीमार नहीं पडें। आॅफिस में वर्किंग एनवायरमेंट बनाने और वर्कलोड का स्वास्थ्य पर प्रभाव नहीं पड़े इसके लिए ही मैने पहले ड्रेस कोड और काम करने के स्थान को बेहतर बनाने के लिए प्रेरित किया था।

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो