अजमेर : दयानंद कालेज के खिलाफ भीख मांगकर छात्रों का प्रदर्शन

अजमेर। राजस्थान के अजमेर में महर्षि दयानंद सरस्वती विश्वविद्यालय के छात्रों ने विश्वविद्यालय पर विकास शुल्क अधिक लेने के मामले को लेकर सड़कों पर भीख मांगकर प्रदर्शन किया।

छात्रों ने विश्वविद्यालय के परीक्षा फार्म की हार्ड कापी के साथ विकास शुल्क के नाम पर वसूली के खिलाफ सड़कों पर उतर कर भीख मांगी और दुकानदारों से जमा राशि विश्वविद्यालय प्राचार्य डा. लक्ष्मीकांत को सौंपी।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् से जुड़े छात्र नेता विकास गोरा ने बताया कि विश्वविद्यालय की ओर से विकास शुल्क सौ रुपए निर्धारित है लेकिन प्राचार्य अपनी हठधर्मिता से नियमित विद्यार्थी से दो सौ तथा स्वयंपाठी से तीन सौ रुपए वसूल कर रहा है जो पूरी तरह अवैध है। इससे सभी में आक्रोश है।

उन्होंने कहा कि हमने आज बाजारों से ‘विश्वविद्यालय को भीख दो’ के माध्यम से पैसा एकत्रित किया है। फिर भी प्राचार्य ने अतिरिक्त फीस की अवैध वसूली बंद नहीं की तो मजबूरन छात्रों को सड़कों पर उतरना पड़ेगा।

उल्लेखनीय है कि आनलाइन परीक्षा फार्म की हार्ड कापी अजमेर के सभी महाविद्यालय में जमा की जा रही है जबकि राजस्थान विश्वविद्यालय ने एक फैसले में हार्ड कापी जमा नहीं कर कोरोना नियम पालना कराने का फैसला लिया है।