प्यार में दुनियाँ खुबसूरत लगती है, दर्द में दुनियाँ दुश्मन लगती है

एक हरयाणवी 5 स्टार होटल में जाके वेटर से बोला-..चाय लाओ ।
थोड़ी देर बाद वेटर एक ट्रे लाया जिसमे गरम पानी, टी बैग, शुगर क्यूब और मिल्क पाउडर का पाउच था , हरयाणवी ने जैसे तैसे चाय बनाई और पी । थोड़ी देर बाद वेटर आया और पूछा-..और क्या लोगे साब..?

हरयाणवी-..वेसे तो पकोङे खाने का जी करे था भाई, पर डर यूँ लागे के कदे तू कहीं मेरे सामने तेल, बेसन, नून मर्च और कड़ाई लाके ना धर दे…
😳😛😛


प्यार में दुनियाँ खुबसूरत लगती है,
दर्द में दुनियाँ दुश्मन लगती है।

तुम जेसे दोस्त जिन्दगी में हो तो,
“बिसलेरी” भी
साली “किंगफिशर” लगती है…


“नशा” “महोब्बत” का हो
“शराब” का हो …-

या ” WhatsApp ” का हो
“होश” तीनो मे खो जाते है

“फर्क” सिर्फ इतना है की,
“शराब” सुला देती है ..

“महोब्बत” रुला देती है, और –
“whatsapp” यारों की याद दिला देती है