आम लोगों को 2022 तक करना होगा कोरोना वैक्सीन का इंतजार

नई दिल्ली। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान दिल्ली के निदेशक एवं देश में कोरोना वायरस कोविड-19 के प्रबंधन के लिए गठित नेशनल टास्क फोर्स के सदस्य डॉ रणदीप गुलेरिया ने आज कहा कि आम लोगों को कोरोना वैक्सीन के लिए वर्ष 2022 तक इंतजार करना होगा।

डॉ गुलेरिया ने रविवार को एक टीवी चैनल को दिए साक्षात्कार में कहा कि आम लोगों को वर्ष 2022 तक कोरोना वैक्सीन का डोज लेने के लिए इंतजार करना होगा। उन्होंने कहा कि भारतीय बाजार में कोविड-19 के लिए कारगर वैक्सीन उपलब्ध होने में ही एक साल से अधिक समय लग जाएगा।

उन्होंने कहा कि भारत की आबादी बहुत अधिक है और बाजार से कोरोना वैक्सीन कैसे एक फ्लू वैक्सीन की तरह खरीदी जा सके, यह जानने में वक्त लगेगा। ऐसा होने पर ही आदर्श स्थिति होगी और यह वर्ष 2021 के अंत तक या वर्ष 2022 की शुरूआत तक ही संभव होगा।

गौरतलब है कि देश में अब तक कुल 85,07,754 व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें से 78,68,968 मरीज स्वस्थ हुए हैं और 1,26,121 संक्रमितों ने दम तोड़ा है।फिलहाल देश में कोरोना संक्रमण के 5,12,665 सक्रिय मामले हैं।