लाल किले की प्राचीर से हो सकती है कोरोना के मृतकों के लिए मुआवजे की घोषणा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना महामारी से हुई मौतों के लिए स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले की प्राचीर से मुवावजे का ऐलान कर सकते हैं।

सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री द्वारा स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले से अपने संबोधन में कोरोना महामारी के कारण जान गवाने वाले लोगों के परिजनों के लिए मुवावजे की घोषणा किए जाने की संभावना है।

सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को एक रिपोर्ट सौंपी है, जिसमें कहा गया है कि प्राधिकरण के पास आपदा कोष में 20 हजार करोड रुपए की राशि है,जिसका इस्तेमाल आपदा में जान गंवाने वालों के परिजनों को अनुग्रह राशि देने में किया जा सकता है। आपदा के कारण होने वाली मौतों के लिए वर्ष 2014 में चार लाख रुपए प्रति व्यक्ति की राशि तय की गई थी।

उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी के कारण जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को दिए जाने वाले मुवावजे को लेकर काफी दिनों से विवाद चल रहा है और यह मामला कोर्ट तक पहुंच गया है।

उच्चतम न्यायालय ने सरकार से 6 सप्ताह में यह बताने को कहा है कि वह लोगों को कितना मुआवजा, कब तक तथा कैसे देगी। सरकार ने न्यायालय को पहले बताया था कि पहले से चली आ रही व्यवस्था के अनुसार वह प्रत्येक मृतक के परिजन को चार लाख रूपए का मुआवजा देगी।

सूत्रों के अनुसार इस इस मामले मैं अब वह देर नहीं करना चाहती और इसलिए संभवत है प्रधानमंत्री स्वतंत्रता दिवस के अपने संबोधन में इस बारे में घोषणा कर सकते हैं।