मध्यप्रदेश कांग्रेस में कलह, कई पदाधिकारियों के इस्तीफे

Conflicts in Madhya Pradesh Congress, many office bearers resign

नीमच। कांग्रेस की मध्यप्रदेश इकाई में समन्वय समिति के गठन के बाद कलह खुलकर सामने आ गई है। समिति में राजेद्र सिंह गौतम को शामिल करने के विरोध में नीमच-मंदसौर के कई पार्टी पदाधिकारियों ने इस्तीफे दे दिए हैं।

कांग्रेस महासचिव एवं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की अध्यक्षता में मंगलवार को ही समन्वय समिति की घोषणा हुई है। इसमें गौतम को भी सदस्य नियुक्त किया गया है। उनकी नियुक्ति की सूचना के बाद नीमच जिला कांग्रेस के महामंत्री मनीष जोशी, जावद के पूर्व जनपद अध्यक्ष सत्यनारायण पाटीदार और मंदसौर जिला कांग्रेस के उपाध्यक्ष महेंद्र गुर्जर सहित दोनो जिलों के विभिन्न ब्लॉक स्तरीय संगठन के कई पदाधिकारियों ने विरोध स्वरूप अपने पदों से त्यागपत्र दे दिए हैं।

पद छोड़ने वाले पदाधिकारियों का कहना है कि श्री गौतम वर्ष 2008 के लोकसभा चुनाव में पार्टी से बगावत कर निर्दलीय के रूप में लड़े थे और उनको छह साल के लिए पार्टी से भी निकाला गया था। इसके बाद भी उन्होंने सदैव पार्टी विरोधी गतिविधियों में हिस्सा लिया है। ऐसे व्यक्ति को प्रदेश समन्वय समिति में लेना उचित नहीं है।

इस संदर्भ में यह चर्चा भी सामने आई थी कि पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन ने भी विरोध स्वरूप संगठन में अपना पद छोड़ दिया है। हालांकि, नटराजन ने अपने त्यागपत्र की चर्चा को महज अफवाह बताते हुए कहा है कि संगठन संबंधी सभी मुद्दों पर संगठन फोरम पर ही चर्चा होनी चाहिए।