कांग्रेस की गुजरात में बिटक्वाइन घोटाले की न्यायिक जांच की मांग

कांग्रेस की गुजरात में बिटक्वाइन घोटाले की न्यायिक जांच की मांग
कांग्रेस की गुजरात में बिटक्वाइन घोटाले की न्यायिक जांच की मांग

नयी दिल्ली । कांग्रेस ने नोटबंदी के बाद गुजरात में बिटक्वाइन के जरिए पांच हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के घोटाले और इसमें भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के शामिल होने का आरोप लगाते हुए इस मामले की उच्चतम न्यायालय की निगरानी में जांच कराने की मांग की है।

कांग्रेस प्रवक्ता शक्तिसिंह गोहिल ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि गुजरात के सूरत में नोटबंदी के बाद पुराने नोटों के लेनदेन में यह घोटाला किया गया। गुजरात सीआईडी ने मामले की जांच करते हुए इसे पांच हजार करोड् रुपए से ज्यादा का घोटाला बताया है जबकि समाचार माध्यम इसे 1500 करोड़ रुपए और ब्लॉगर 88 हजार करोड़ रुपए का घोटाला बता रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अवैध लेनदेन का यह कारोबार गुजरात के गृह राज्य मंत्री प्रदीप जडेजा को की गयी शिकायत के बाद सामने आया और अब तक इस घोटाले में एक पुलिस अधीक्षक, एक निरीक्षक तथा दस पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। मामले की गहनता से की गयी जांच से यह भी खुलासा हुआ है कि घोटाले का मास्टरमाइंड भारतीय जनता पार्टी का पूर्व विधायक नलिन कोटाडिया है।

वह अभी फरार है लेकिन उसने एक वीडियो जारी कर कहा कि उसके साथ भाजपा के कई शीर्ष नेता शामिल हैं और यदि उसकी गिरफ्तारी हुई तो वह सबका खुलासा कर देगा। प्रवक्ता ने कहा कि नोटबंदी के बाद हुआ यह बहुत बड़ा घोटाला है और उच्चतम न्यायालय की निगरानी में इसकी निष्पक्ष जांच आवश्यक है।