BJP राज में कांग्रेस ने कलक्टर चेम्बर के सामने फूंका PM का पुतला

sirohi, congress, narendra modi, sanyam lodha
Congress burn effigy of pm modi in front of collector chamber in sirohi

सबगुरु न्यूज-सिरोही। राष्ट्र और प्रदेश कांग्रेस के आह्वान पर जिला कांग्रेस ने गुरुवार को पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों के विरोध में रैली निकालकर प्रदर्शन किया। इस दौरान पिछले करीब डेढ़ दशक और उससे पहले भी आंदोलन के दौरान जो नहीं हुआ वो नजारा देखने को मिला। भाजपा राज में प्रधानमंत्री का पुतला कलेक्टर चेम्बर के सामने प्रांगण में फूंका गया। 

सबसे महत्वपूर्ण बात ये भी थी कि सिरोही के सभापति  ताराराम माली के तीन साल पहले पुतला दहन में भाजपा के जो कार्यकर्ता उनका पुतला छीनने पहुंचे थे, उनमें से किसी ने भी प्रधानमंत्री के पुतले को बचाने की कोशिश नहीं की।

केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार के खिलाफ एआईसीसी के सदस्य संयम लोढ़ा और जिला कांग्रेस अध्यक्ष जीवाराम आर्य के नेतृत्व में पेट्रोल डीजल के दाम घटाने को लेकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के लिए सभी लोग नगर परिषद के बाहर एकत्रित हुए। यहां से मुख्य मार्गों पर से विरोध स्वरूप बैलगाड़ियां और उस पर गैस सिलेण्ड़र तथा ऊंट गाड़ी पर मॉपेड़ रखकर रैली निकाली गई। इनमें सबके हाथ में सिरोही में आज के पेट्रोल और डीजल के दाम की तख्तियां भी थी।

इसके अलावा पेट्रोल डीजल के दाम कम करो, रसोई गैस के दाम कम करों, पानी, बिजली, रेल भाड़े की बढ़ोतरी वापस लो, कांग्रेस पार्टी जिन्दाबाद, प्रधानमंत्री महंगाई कम करने का चुनावी वादा पूरा करें इत्यादि नारों की तख्तियां लेकर भी लोग चल रहे थे। रैली कलक्ट्रेट परिसर तक पहुंची तो उसे मुख्य द्वार पर रोक दिया गया।

कोंग्रेस नेताओं ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 2013 से कम होने के बाद भी मोदी सरकार ने असहनीय केंद्रीय कर लगाकर पेट्रोल और डीजल के दामों में आग लगा दी है। प्रधानमंत्री मोदी का पुरा मंत्रीमण्ड़ल केवल चिन्तित होकर अपनी जिम्मेदारी से भाग रहा है। काफी देर बाद इन लोगों के लिए दरवाजे खुले तो सभी लोग प्रधानमंत्री का पुतला भी जिला कलेक्टर के चेम्बर के सामने के प्रांगण तक ले आये।

सिरोही में डेढ़ दशकों और संभवतः उससे भी पहले जो नहीं हुआ वो किया। कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने इस प्रांगण में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंक दिया। इस प्रदर्शन में पूर्व जिलाध्यक्ष एवं पूर्व विधायक गंगाबेन गरासिया, पूर्व सांसद पारसाराम मेघवाल, रेवदर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी 2013 लकमाराम कोली, ब्लॉक कांग्रेस सिरोही अध्यक्ष किशोर पुरोहित, शिवगंज के हरीश राठौड़, पिण्ड़वाड़ा के प्रेमाराम देवासी, माउण्ट आबू के नारायणसिंह भाटी, आबूरोड़ के राशिद कायमखानी, पेंशनर्स प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष गोपाल दाना, इंटक नेता इन्दरसिंह देवड़ा, पालिकाओं में नेता प्रतिपक्ष नरगिस कायमखानी, ईश्वरसिंह ड़ाबी, संजय गर्ग थे।

अब्बास अली, पूर्व ब्लॉक अध्यक्ष राकेश रावल, गणेश बंजारा, हड़मतसिंह देवड़ा, प्रदेश कांग्रेस सचिव राजेन्द्र सांखला, पूर्व लोकसभा प्रत्याशी संध्या चौधरी, एस.सी. प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष गलबाराम गोयल, एस.टी. जिलाध्यक्ष नीम्बाराम गरासिया, जिला प्रवक्ता एवम् महामंत्री हमीद कुरैशी, सेवादल जिला मुख्य संगठक भूराराम कोली, पूर्व प्रधान मोतीराम कोली, अचलाराम माली, अणदाराम गरासिया, शिवगंज उपप्रधान मोटाराम देवासी, एसबीसी प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष सुरताराम देवासी भी शामिल थे।

जिला उपाध्यक्ष आनन्द जोशी, सुभाष चौधरी, जोगाराम मेघवाल, उद्योग एवम् व्यापार प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष प्रताप माली, जिला महामंत्री छगन गेहलोत, विनोद देवड़ा, बाबु खांन उर्फ मुख्तियार, शिवगंज नगर कांग्रेस अध्यक्ष वजींगाराम घांची, पूर्व अध्यक्ष पुखराज परिहार, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष मारूफ हुसैन, ओ.बी.सी. प्रको’ठ प्रदेश महामंत्री भूपत भाई देसाई, मीड़िया आई.टी. सेल जिला संयोजक राजेन्द्र माली, सह संयोजक मफतलाल बुनकर, अलताफ खांन, नटवरसिंह कालन्द्री,  सुरेश राव, युवा कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष अजरूद्दीन मेनन, पार्षद जितेन्द्र सिंघी, प्रकाश राज मीणा, गोपी मेघवाल, दीपक सैनी, योगेश सिंधल, शिवशंकर शर्मा, सुनील राज, जयन्ति मारू, कान्ति परिहार, सरपंच संघ आबूरोड अध्यक्ष ललिता गरासिया, शिवगंज के पुरणसिंह देवड़ा, सरपंच किशोर बाफना, पन्नाराम हीरागर, खेतदान चारण, शकूर भाटी, पंचायत समिति सदस्य लकमाराम गरासिया, लीलाराम गरासिया, जैसाराम मेघवाल गोयली, मंगल कुमार मीणा, यश शर्मा, महावीर झाकोड़ा, समरथ धानका, विजय पंडित, चम्पत टेलर, पुरण कुंवर, पूर्व उपप्रधान मोतीसिंह देवड़ा, मगनलाल मीणा, विधि प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष कुलदीप रावल, ईश्वरसिंह सिसोदिया, एड़वोकेट महेन्द्र चौहान, प्रकाश प्रजापत, प्रकाश धवल, हरिओम दत्ता, आर्य वीरदल के हरदेव आर्य, तेजाराम मेघवाल जावाल ने भी हिस्सा लिया।

सत्येन मीणा, तलसाराम राणा, महिला नेत्री सीता पुरोहित, मीनू सैनी, कला रावल, अंजना भट्ट माण्डोली, संजय परमार, महेशदान चारण, राजू उर्फ सिराज सरूपगंज, इब्राहीम भाई मण्ड़ार, वरि’ठ कांग्रेसी जामतसिंह बारहठ, जब्बरसिंह तंवरी, रामलाल पुरोहित नारादरा, श्रवणसिंह राव, छैन्प् पूर्व जिलाध्यक्ष कुशलसिंह देवड़ा, दशरथ नरूका, युवा कांग्रेस प्रदेष सचिव सिद्धार्थ गेहलोत, जगदीश माली, छगन बी टांक, हड़मतसिंह वेरा सहित कई पदाधिकारी एवम् जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

प्रदर्शन के तरीके की रही चर्चा

आमतौर पर भाजपा धरने प्रदर्शन के अपने अनूठे तरीकों के लिए जानी जाती है, लेकिन गुरुवार को रैली और प्रदर्शन के मामले में कांग्रेस अपने मुद्दे के प्रस्तुतिकरण में उससे काफी आगे नजर आयी। रैली में डीजल और पेट्रोल के गुरुवार को सिरोही जिले के दाम सबके हाथ में थी। इससे लोगों को ये दर्शाने का प्रयास किया गया किया सरकार किस तरह से तेल के दामों में अप्रत्याशित बढ़ोतरी करने की जिम्मेदारी निभा रही है।

इतना ही नहीं एलपीजी सिलेंडर रखकर उसके दामों में हो रही बेतहाशा बढ़ोतरी को भी उन्होंने दर्शाया। बैलगाड़ी, थैला,  ऊंट गाडी के माध्यम से ये दर्शाने का प्रयास किया गया कि किस तरह से सरकार ने लोगों की प्रगति को रोक दिया है।

-कांग्रेस 26 को मनाएगी विश्वासघात दिवस

केन्द्र में भाजपा की नरेन्द्र मोदी सरकार की चौथी वर्षगाठ 26 मई को कांग्रेस पार्टी जिले में ’’विश्वासघात दिवस’’ के रूप में मनायेगी।  जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष जीवाराम आर्य ने बताया कि जिलेभर के कांग्रेस कार्यकर्ता 26 मई 2018 शनिवार को पसवेरे 10 बजे आबूरोड़ बस स्टेण्ड़ पर एकत्रित होंगे और वहां से रैली के रूप में तहसील कार्यालय पर जायेंगे। वहां पर नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा आम चुनाव 2014 में किये गये वादों पर चार वर्ष में कोई कार्य नहीं होने से जनता परेशान हैं, पर कांग्रेस के नेता एवम् जनप्रतिनिधि सम्बोधित करेंगें। इस दौरान अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य एवम् पूर्व विधायक संयम लोढ़ा, पूर्व विधायक गंगाबेन गरासिया, प्रधान लालाराम गरासिया, आबूरोड़ ब्लॉक अध्यक्ष राशिद खांन सहित कांग्रेस के पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि एवं कार्यकर्ता उपस्थित रहेंगे।

देखेँ वीडियो…