कांग्रेस प्रत्याशी महेन्द्र सिंह रलावता और हेमन्त भाटी बीजेपी पर बरसे

अजमेर। विधानसभा चुनाव में टिकिट वितरण के बाद उपजे असंतोष से अजमेर कांग्रेस भी अछूती नहीं रही। हालांकि टिकिट चाहने वालों की लंबी फेहरिस्त में से अजमेर उत्तर से महेन्द्र सिंह रलावता और अजमेर दक्षिण सीट से हेमन्त भाटी ने बाजी मार ली।

रविवार को कांग्रेस के दोनों प्रत्याशियों ने अजमेर शहर कांग्रेस कमेटी के बैनर तले सामूहिक रूप से प्रेस वार्ता आयोजित की। इस मौके पर शहर अध्यक्ष विजय जैन भी मौजूद रहे। कांग्रेस के दोनों प्रत्याशियों ने चुनाव में जीत का भरोसा जताते हुए कहा कि अजमेर का विकास उनका ध्येय है।

कांग्रेस शहर अध्यक्ष विजय जैन ने कहा की अजमेर उत्तर व अजमेर दक्षिण सीट से दोनों प्रत्याशियों को हम विजय दिलवाकर विधानसभा भेजेंगे। उन्होंने सत्ताधारी बीजेपी पर विकास के नाम पर आमजन को झूठे सपने दिखाने वाली करार देते हुए कहा कि गत 15 साल से अजमेर शहर की दोनों विधानसभा सीटों पर भाजपा के विधायक काबिज है। मंत्री पद से नवाजे जाने के बाद भी ये जनसमस्याओं का निराकरण नहीं कर सके।

विकास, शिक्षा, स्वास्थ्य के क्षेत्र में भाजपा सरकार विफल रही है। अपराध, लूटपाट, दलित अत्याचार के मामलो में बढोतरी होती गई। राजे सरकार का प्रदेश में 15 लाख युवाओं व केंद्र का 2 करोड़ युवाओ को रोजगार देने का वादा खोखला साबित हुआ।

अजमेर की जनता को प्यासा रखकर बीसलपुर का पानी भी जयपुर भेजा जाने लगा है। शहर की बिजली व्यवस्था को निजी हाथों में सौंपकर प्राइवेट कंपनी को लाभ पहुंचाया गया। उपभोक्तों से मनमाना बिजली बिल वसूला जा रहा है। मोदी सरकार का काला धन वापस देश में लाने का वादा भी खोखला साबित हुआ। स्मार्ट सिटी के नाम पर अजमेर की जनता को छला गया।

उन्होंने कहा कि बीजेपी ने चुनावों में जीत हासिल करते ही सचिन पायलट की 3075 करोड़ की स्लम फ्री सिटी की योजना को बंद कर दिया। इसी तरह अजमेर का एयरपोर्ट भी सचिन पायलट की देन है जिसके नाम पर बीजेपी वाहवाही लूट रही है।

अजमेर उत्तर सीट से प्रत्याशी महेंद्र सिंह रलावता ने भाजपा सरकार पर कोरी घोषणा करने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा का विकास का नारा विकास विनाश का वाहक बन गया। भाजपा ने बीते 15 साल में गरीब को छला और परेशान किया। हालत यह है कि सुभाष उद्यान में सुबह शाम घूमने पर अब शुल्क रूपी टैक्स लगा दिया गया।

विकास का दम भरने वाली बीजेपी को पता होना चाहिए कि जब लोको और कैरिज वर्कशॉप बंद होने की कगार पर थे तब सचिन पायलट ने हीकेंद्र से सहयोग राशि स्वीकृत कराकर इन्हें नया जीवन दिया। स्मार्ट सिटी के नाम पर अजमेरवासियों के साथ धोखा किया जा रहा है। उन्होंने सरकार की नीति पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा कि पेट्रोल को जीएसटी के दायरे में क्योें नहीं लाया जा रहा, एलपीजी, पेट्रोल के दाम अचानक क्यों बढ जाते हैं।

रलावता ने कहा कि बीजेपी के जनप्रतिनिधि मंत्री बनने के बाद विकास के नाम पर अजमेर में सिर्फ नारियल फोड़ प्रतियोगिता में ही उलझे रहे। कांग्रेस पार्टी की सरकार बनने के बाद भाजपा राज में विकास के नाम पर हुए भ्रष्टाचार की जांच करवाई जाएगी। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

अजमेर दक्षिण सीट से प्रत्याशी हेमंत भाटी ने कहा कि आमजन ने भाजपा पर भरोसा कर केंद्र व राज्य में सत्ता पर काबिज किया। चुनाव प्रचार के दौरान महंगाई कम करने का वादा करके भ्रम फैलाया गया। सरकार बनते ही वादे से कुकर गए। आज आमजन महंगाई की मार से त्रस्त है और सरकार चैन की बंसी बजा रही है। जाति बिरादरी के नाम पर एक दूसरे का लडाने वाली बीजेपी को इस बार जनता कडा सबक सिखएगी। अजमेर की जनता को उसका हक दिलवाने के लिए कांग्रेस मजबूत इरादे के साथ चुनाव में उतरी है।

उन्होंने राजे सरकार पर राजस्थान रोडवेज की अनदेखी तथा इसे बंद करने की कोशिशों का आरोप लगाते हुए कहा कि रोडवेज कर्मचारियों को समय पर न तो वेतन का भुगतान हो रहा है और ना ही सेवानिवृत हो जाने वाले कर्मचारियों को उनका बकाया भुगतान किया जा रहा है। कांग्रेस की सरकार बनने पर कर्मचारी वर्ग को उसका हक मिलेगा।