पेट्रोल पर 211, डीजल पर 443 प्रतिशत टैक्स बढ़ोतरी, कांग्रेस के बंद की ये रणनीति

सिरोही में पत्रकार वार्ता को संबोधित करते बंद प्रभारी करणसिंह उचरियाड़ा, पूर्व विधायक संयम लोढ़ा और जिलाध्यक्ष जीवाराम आर्य।
सिरोही में पत्रकार वार्ता को संबोधित करते बंद प्रभारी करणसिंह उचरियाड़ा, पूर्व विधायक संयम लोढ़ा और जिलाध्यक्ष जीवाराम आर्य।

सबगुरु न्यूज-सिरोही। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के आह्वान पर देश भर में पेट्रोल और डीजल पर टैक्स की अभूतपूर्व वृद्धि के खिलाफ आयोजित बंद के लिए सिरोही कांग्रेस की रणनीति का खुलासा आयोजन के जिला प्रभारी करणसिंह उचरियाडा ने पत्रकार वार्ता में किया।

उन्होंने बताया कि सिरोही जिले में बंद को सफ बनाने के लिए जिला, तहसील, ब्लाॅक और ग्राम स्तर तक प्रभारी बनाए गए हैं, जो हर व्यापारी से संपर्क करके उनसे जनहित के काम में सहयोग की अपील कर रहे हैं।
उचरियाड़ा ने पत्रकार वार्ता में कहा कि भाजपा सरकार ने व्यापारियों की तरह काम कर रही है। उसने साढ़े चाल साल में पेट्रोल पर 211 प्रतिशत और डीजल पर 443 प्रतिशत टैक्स की बढ़ोतरी की है। उन्होने कहा कि जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड आॅयल के दामों में 2014 के मुकाबले 30 प्रतिशत की गिरावट आइ्र है तो इस तरह से जनता पर टैक्स का बोझ लादकर गैर कानूनी तरीके से वसूली करना अराजकता है।

उन्होंने मोदी और वसुंधरा सरकार को चालाक और बदमाश किस्म की सरकार की संज्ञा देते हुए इन्हें जनहितैषी सरकार बनाने के लिए आम जनता व व्यापारी से बंद में भरपूर सहयोग की अपील की। उन्होंने कहा कि जिस देश का प्रधानमंत्री व्यापारी हो जता है वहां की जनता बेचारी हो जाती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इसी व्यापारी सरकार को जनहितैषी सरकार बनाने के लिए इस बंद के आह्वान के अलावा कोई विकल्प नहीं रह गया था। उनका दावा था कि कांग्रेस राज में जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कू्रड आॅयल के दाम बढ़ रहे थे और तेल के दाम बढ़ाना मजबूरी थी तब प्रधानमंत्री के कहने पर पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वेट कम किया था।

वर्तमान सरकार यदि ऐसा करे तो आम आदमी को पेट्रोल और डीजल के दामों में 15 रुपये तक की राहत मिल सकती है। राजस्थान के मंत्री राजकुमार रिणवा के पेट्रोल डीजल के दामों को बाढ़ से जोड़ने को लेकर उचरियाडा ने कहा कि अव्वल तो केरल में बाढ़ आए एक महीने से ज्यादा बीत गया है।

दूसरा यदि केन्द्र और राज्य सरकार यह आह्वान करे की बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए पेट्रोल पर प्रति लीटर दस पैसा अतिरिक्त वसूली की जाएगी तो जनता उसका स्वागत करेगी तथा कांग्रेस पार्टी उनके समर्थन में खडी होगी। उन्होंने कहा कि सरकार यदि व्यापारियों की तरह मुनाफाखोरी को व्यवसाय बना लेगी तो कांग्रेस उनका पुरजोर विरोध करेगी।

पूर्व विधायक संयम लोढ़ा ने रिणवा के बयान और अज्ञानता पर तंज कसते हुए कहा कि मंत्री रिणवा को उनके विभाग की वसूली की ही जानकारी नहीं है वह बाढ की जानकारी कहा रख पाएंगे। सिर्फ अपने विभाग पर ही ध्यान दिए होते तो राज्य की जनता के बजरी के नाम पर की जा रही लूट रुक जाती।

लोढ़ा ने कहा कि प्रधानमंत्री ने 2014 में क्रूड के दाम घटने पर यह कहा था कि उनके नसीब से यह दाम घट रहे हैं तो अब क्रूड के बढ़ते हुए दाम उनकी दुर्भाग्य की ओर इशारा नहीं कर रहे हैं।
-सवेरे 9 से तीन बजे तक होगा बंद
उचरियाड़ा ने बताया कि जनता और व्यापारियों की समस्या को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस ने सोमवार को सवेरे 9 से दोपहर तीन बजे तक बंद का आह्वान किया है। उन्होंने बंद में समर्थन देकर सरकार की लूट से देश का बचाने का अनुरोध किया है।

लोढ़ा व कांग्रेस जिलाध्यक्ष जीवाराम आर्य ने बताया कि बंद को लेकर जिला मुख्यालय समेत शिवगंज, आबूरोड, पिण्डवाड़ा, सरूपगंज, माउण्ट आबू, जावाल में व्यापार संघ से बात हो गई है। सभी से बंद में सहयोग की अपील की गई है।