प्रियंका को लाकर कांग्रेस ने राहुल की नाकामी स्वीकारी : भाजपा

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने प्रियंका वाड्रा को कांग्रेस का महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी नियुक्त किए जाने पर कटाक्ष करते हुए आज कहा कि कांग्रेस ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गाँधी की नाकामी सार्वजनिक रूप से स्वीकार कर ली है।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने यहाँ संवाददाताओं से कहा कि एक बात आज तय हुई है कि कांग्रेस पार्टी ने सार्वजनिक रूप से अपने अध्यक्ष राहुल गांधी की नाकामी की घोषणा की है और यह स्वीकार किया है कि वह विफल हो गए हैं और उन्हें प्रियंका की बैसाखी की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि महागठबंधन से पूरी तरह नकार दिए जाने के बाद कांग्रेस को बैसाखी की जरूरत थी और वह बैसाखी भी परिवार से ही तलाशी जा रही है।

भाजपा प्रवक्ता ने कांग्रेस पर परिवारवाद का आरोप लगाते हुए कहा कि आज कांग्रेस के प्रथम परिवार से एक राज्याभिषेक हुआ है। यह स्वाभाविक है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस दरअसल एक परिवार ही की पार्टी है, इसमें कोई शक नहीं। पहले जवाहरलाल नेहरू, उसके बाद इंदिरा गांधी, फिर राजीव गांधी, सोनिया गांधी, राहुल गांधी और अब प्रियंका गांधी। देश जानना चाहता है कि आगे कौन? केवल एक ही परिवार से?

उन्होंने कहा कि भाजपा और कांग्रेस में मूल अंतर यह है कि भाजपा पार्टी को परिवार मानती है और कांग्रेस में परिवार को पार्टी माना जाता है। आज का ‘न्यू इंडिया’ इस तरह की वंशवादी राजनीति से दु:खी है। सवाल यह है कि क्या एक परिवार ही भारत है या भारत परिवार से परे है।