कांग्रेस ने 23 मई की हार से ‘नामदार’ को बचाने की तैयारी शुरू की : मोदी

Congress has commenced preparations to save ‘Namdaar’ after defeat on May 23 says Modi in deoghar

देवघर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केन्द्र में भारतीय जनता पार्टी की अगुवाई में एक बार फिर सरकार बनने का दावा करते हुए आज कहा कि 23 मई (मतगणना का दिन) को हार के बाद ‘नामदार’ को बचाने के लिए कांग्रेस पार्टी में बैठकें शुरू हो गई हैं।

मोदी ने यहां कुंडा में झारखंड की संथाल परगना इलाके की तीन सीटों पर अपने उम्मीदवारों के समर्थन में आयोजित एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम लिये बगैर उनपर जमकर हमला किया।

उन्होंने कहा कि 19 मई को सातवें और अंतिम चरण में मतदान होना है, लेकिन मतदान से पूर्व ही कांग्रेस पार्टी में बड़ी बैठकें हो रही हैं ताकि हार की जिम्मेदारी तय हो और इस हार के लिए नामदार को बचाया जा सके।

प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी लगातार बैठकें कर रही है और नामदार को बचाने के लिए रणनीति बना रही है, ताकि नामदार पर हार का असर न पड़े। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी में ‘शहीद’ बनने के लिए होड़ मची है।

रैली में पहुंचे अपार जनसैलाब से उत्साहित मोदी कहा कि इस सभा में उपस्थित लोगों की संख्या ही यह बताने के लिए काफी है कि 23 मई को क्या होने वाला है। उन्होंने कहा कि देश ने फैसला कर लिया है कि 23 मई को एक बार फिर मोदी सरकार सत्ता में वापस आएगी।

मोदी ने कहा कि बाबा बैद्यनाथ के आशीर्वाद से संथाल परगना के लोगों से किए गए विकास के वादे को पूरा किया जायेगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले पांच वर्षों से उन्होंने एक ईमानदार और मजबूत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार का नेतृत्व किया है।

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पार्टी और उसके नेताओं पर हमला करते हुए कहा कि देश की सबसे पुरानी पार्टी ने 23 मई को आने वाले परिणामों की तैयारी शुरू कर दी है। लगातार बैठकें की जा रही है। उन्होंने कहा कि राजग की जीत के बाद कांग्रेस पार्टी निश्चित हार के लिए दोषी ठहराने वाले विकल्पों पर विचार कर रही है ताकि नामदार को बचाया जा सके।

मोदी ने वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं सैम पित्रोदा और मणिशंकर अय्यर पर तीखे हमले करते हुए कहा कि पांचवें चरण की समाप्ति के बाद नामदार परिवार के ‘दो दरबारियों’ ने बल्लेबाजी शुरू कर दी है। कांग्रेस के पूरे मामले से खुद को अलग किए जाने पर तंज कसते हुए उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि यह कैसे संभव है कि ‘कप्तान’ से पूछे बिना इन दोनों बल्लेबाजों ने बल्लेबाजी शुरू कर दी।