कांग्रेस को संविधान और लोकतंत्र पर सवाल उठाने का कोई नैतिक अधिकार नहीं

कांग्रेस को संविधान और लोकतंत्र पर सवाल उठाने का कोई नैतिक अधिकार नहीं
कांग्रेस को संविधान और लोकतंत्र पर सवाल उठाने का कोई नैतिक अधिकार नहीं

बेंगलुरुसंसदीय कार्य मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता अनंत कमार ने आज कहा कि देश पर आपातकाल थोपने वाली कांग्रेस को देश के संवैधानिक अधिकार और लोकतंत्र पर सवाल उठाने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है।

श्री कुमार ने उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू के उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के विरुद्ध लाये गये विपक्ष के महाभियोग प्रस्ताव को खारिज किये जाने का स्वागत करते हुए कहा कि कांग्रेस को संविधान और लोकतंत्र पर सवाल उठाने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि देश की आजादी के 70 वर्ष बीत चुके हैं लेकिन कांग्रेस को अभी संविधान और देश के बारे में काफी कुछ सीखना है।

उन्होंने कहा,“ कांग्रेस के इस प्रयास से हमें निराशा हुई है। इससे स्पष्ट होता है कि कांग्रेस में समझ की कमी है औरउसकी भूल जाने की भी आदत है। इस पार्टी ने संविधान के विरुद्ध आपातकाल देश पर थोपा था। यह पार्टी अब लोकतंत्र के एक स्तंभ न्यायपालिका के विरुद्ध इस तरह के प्रस्ताव ला रही है।