जेल में आजम खान ने जो कहा, अगर बता दूं तो सियासी भूचाल आ जाएगा : प्रमोद कृष्णम

रामपुर। कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता आजम खान के प्रति राज्य की योगी सरकार द्वारा की जा रही नाइंसाफी के मामले में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बीच आपस में मिलीभगत होने का आरोप लगाते हुए कहा कि जेल में मुलाकात के दौरान आजम ने उनसे जो कुछ कहा, अगर वह उसे बता दें तो राजनीतिक भूचाल आ जाएगा।

कृष्णम ने तमाम आपराधिक मामलों में सीतापुर जेल में बंद रामपुर के विधायक आजम खान के परिजनाें से उनके यहां स्थित आवास पर गुरुवार को मुलाकात करने के बाद कहा कि जेल में मुलाकात के दौरान आजम खान ने उनसे जो कहा, अगर वह उसे बता दें तो प्रदेश में राजनीतिक भूचाल आ जाएगा। कृष्णम ने कहा कि आजम खान पर जो ज्यादतियां और नाइंसाफी की बात है उसे वह खुद जेल से बाहर आ कर बताएंगे। गौरतलब है कि कृष्णम ने बुधवार को आजम से सीतापुर जेल में मुलाकात की थी।

आजम खान द्वारा जेल में सपा प्रतिनिधिमंडल से मिलने से इंकार करने के बारे में कृष्णम ने कहा कि जब किसी के दिल को ठेस पहुंचती है तभी वह किसी से मिलने को मना करता है। उन्होंने कहा कि यह एक बड़ा इशारा है कि सपा अपने फर्ज को अदा करने से चूक गई है। उन्होंने कहा कि आजम के जेल से बाहर आने के बाद देश की सियासत में एक बड़ा बदलाव होगा।

कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि मौजूदा सपा नेतृत्व ने जब मुलायम सिंह का ध्यान नहीं रखा तो आजम खान का क्या ख्याल रखेगी। उन्होंने सपा से मुस्लिमों के दूर होने की वजह सपा के कर्मों का फल बताया। उन्होंने आरोप लगाया कि सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव अपने चाचा शिवपाल को भाजपा में भेजना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि सपा में क्या हो रहा है, यह तो नहीं मालूम, लेकिन इतना जरूर कहेंगे कि शीशे में बाल आ चुका है।

कृष्णम ने कहा कि आजम खान की रिहाई आज नहीं तो कल हो जाएगी, क्योंकि जुल्म की एक इंतेहा होती है। हुकूमत ने उनके साथ जो नाइंसाफी की है, उसका फैसला भी जल्दी आएगा। मगर इतना तय है कि अखिलेश यादव और योगी आजम खान के मामले में आपस में मिले हुए हैं।

उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आजम खान के विरुद्ध दर्ज किए गए मुकदमों पर पुनर्विचार करने की अपील की। उन्होंने कहा कि मेरी योगी जी से यह विनती है, क्योंकि सीएम योगी भी हैं, साधु भी हैं और साधु का दिल बड़ा उदार होता है। आजम खान के खिलाफ हुकूमत की ओर से लगाए गए मुकदमों को रद्द कर देना चाहिए।

कृष्णम ने कहा कि मौजूदा सरकार ने राजनीतिक विरोधियों के साथ दुश्मनों जैसा व्यवहार किया और यह हुकूमत का बड़ा गुनाह है। हुकूमत आजम खान को अपना बड़ा दुश्मन मानती है, जबकि उनकी अपनी पार्टी सपा ने आजम खान का साथ नहीं दिया। उन्होंने कहा कि आजम खान से मिलने के लिए अखिलेश और मुलायम सिंह दोनों को जेल जाना चाहिए था।

कांग्रेस नेता ने कहा कि आजम खान जेल की जिस काल कोठरी में रहते हैं, उसमें एक रात काटना भी मुश्किल है। बिच्छू, मच्छर, गंदगी के ढेर के अलावा उसमें और कोई सुविधा नहीं है। आजम खान फर्श पर टाट बिछा कर सोते हैं। उन्होंने कहा कि यह देश और लोकतंत्र के लिए दुर्भाग्य की बात है।