राजनीतिक लाभ के लिए कांग्रेस ने राफेल सौदे पर सवाल उठाए : सतीश पूनिया

जयपुर। राजस्थान भारतीय जनता पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनिया ने सुप्रीमकोर्ट द्वारा राफेल सौदे की जांच की पुनर्विचार खारिज किए जाने पर कहा कि न्यायालय ने यह बता दिया कि यह नरेन्द्र मोदी की सरकार का देशहित में किया गया बेहतरीन निर्णय था और कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने छद्म राजनैतिक स्वार्थ के लिए इसमें रोड़े अटकाने की कोशिश की थी।

डाॅ. पूनिया ने आज जारी बयान में कहा कि गांधी और अशोक गहलोत ने विधानसभा और लोकसभा चुनाव के पहले देश की रक्षा से जुड़े राफेल सौदे पर झूठ बोलकर जनता को भ्रमित करने की कोशिश की थी और जनता ने इनको इसका सबक चुनाव में सीखा दिया। आज सर्वोच्च न्यायालय ने भी याचिका को सीरे से खारिज कर इनके इस षडयंत्र को बेनकाब कर दिया साथ ही न्यायालय ने गांधी को भविष्य में सम्भल कर बयान देने की भी नसीहत दी है।

उन्होंने कहा कि दशकों तक देश में शासन कर अनेकों तरह से देश को लूटने वाली कांग्रेस और उसके नेताओं से देश का ईमानदार प्रधानमंत्री बर्दाश्त नहीं हो रहा और बार-बार झूठे आरोप लगाकर बदनाम करने की साजिश रचते है, लेकिन बार-बार बेनकाब हो जाते है। इस तरह के कई झूठ बोलकर राजस्थान में अशोक गहलोत ने सरकार बनाई, लेकिन अब एक के बाद एक हर झूठ की पोल खुल रही है।

डाॅ. पूनिया ने कहा कि इस निर्णय के बाद देश को एवं राज्य को झूठा प्रचार कर षडयंत्र पूर्वक भ्रमित करने के अपराध पर गांधी और अशोक गहलोत को माफी मांगनी चाहिए।